नेशनल

अब क्या करेंगे योगी? हाइवे पर शराब दुकान बंद होने से हुआ 5,000 करोड़ का नुकसान

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
148
| जुलाई 5 , 2017 , 15:04 IST | लखनऊ

सुप्रीम कोर्ट द्वारा नेशनल हाइवे और राज्य हाइवे पर शराब की दुकानें बंद करने के आदेश के बाद उत्तर प्रदेश को खासा नुकसान हुआ है। बता दें कि इस फैसले के बाद यूपी सरकार के राजस्व में करीब 5000 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। यूपी के मंत्री ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद हाइवे स्थित 8,591 शराब की दुकानों में से महज 2000 दुकानें ही दूसरी जगह पर शिफ्ट हो पाई है।

जबकि 3000 दुकान के मालिकों ने अपने शराब के लाइसेंस को सरेंडर कर दिया। उन्होंने बताया कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा लगाए गए प्रतिबंध की वजह से 2016-17 के वित्तीय वर्ष में सरकार को करीब 5,000 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है।

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने पिछले साल सभी राष्ट्रीय राजमार्गों और राज्य हाइवे पर स्थित शराब की दुकानों को बंद करने का फरमान सुनाया था। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि शराब से संबंधित किसी भी तरह का बोर्ड हाइवे पर नजर नहीं आना चाहिए।

Sc-story_647_111516035012_011317124739

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सभी दुकाने हाइवे से 500 मीटर की दूरी पर रहेगी मगर इसके बाद 15 दिसंबर 2016 को अपने फैसले में थोड़ा बदलाव करते हुए कहा कि हाइवे से 220 मीटर की दूर रहेगी। बता दें कि 19000 हजार करोड़ के राजस्व प्राप्ति लक्ष्य में सरकार को 5000 करोड़ का नुकसान हुआ है जिसके बाद सरकार सिर्फ 14000 करोड़ रुपए की ही आमदनी कर पाई है।

योगी सरकार के मंत्री ने कहा कि सरकार अप्रैल 2018 से अपनी नई आबकारी नीति लागू करेगी। सरकार शराब के कारोबार में सांठगांठ के जाल को तोड़ने की योजना बना रही है।


कमेंट करें