नेशनल

आतंकी हमले के वक्त फरिश्ता बना ड्राइवर सलीम, बचाई कई अमरनाथ यात्रियों की जान

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
109
| जुलाई 11 , 2017 , 13:30 IST | नई दिल्ली

सोमवार को अमरनाथ यात्रियों की बस पर हुए हमले के वक्त एक मुस्लिम शख्स ने कई शिव भक्तों की जान बचाई। दरअसल जिस बस पर हमला हुआ वो बस गुजरात के वलसाड़ से भक्तों को लेकर आ रही थी। हमले के वक्त बस के मुस्लिम ड्राइवर ने अपनी सूझबूझ से कई जिंदगियां बचा ली। हमला करने वाले आतंकियों का का मकसद ज्यादा से ज्यादा लोगों को नुक्सान पहुंचाना था। लेकिन वलसाड के ओम ट्रैवल्स की बस के मुस्लिम ड्राइवर ने जिसका नाम सलीम शेख़ है आतंकियों के मंसूबे पर पानी फेर दिया।

Media95y4msid-59540899,width-400,resizemode-4,NBT-image

जिस वक्त आतंकियों ने बस पर हमला किया उस वक्त बस में करीब 60 लोग सवार थे। हमले में जिंदा बचे यात्रियों का कहना है कि आतंकी बस पर एक तरफ से अंधाधूंध गोलिया चला रहे थे। दरअसल, गोलियों की आवाज़ सुनकर बस में अफ़रातफरी मच गई थी और लोग घबरा गए थे लेकिन ऐसे संकट के समय बस के ड्रावर सलीम शेख़ ने हिम्मत नहीं हारी। उसे मालूम था कि अगर उसने बस रोक दी तो आतंकियों के लिए बस पर निशाना साधना आसान हो जाएगा। बस फिर क्या था, सलीम ने बस के एक्सेलेरेटर पर पांव रखा और गोलीबारी के बीच बस दौड़ाना शुरु कर दी इस बीच एक गोली बस के टायर पर भी लगी लेकिन फिर भी सलीम ने बस नहीं रोकी और लगातार बस दौड़ाते रहे। आख़िर में सलीम बस को लेकर एक आर्मी कैंप में पहुंच गए और इस तरह उन्होंने अपनी जान पर खेलकर कई लोगों की जान बचा ली।

आतंकी हमले की भयावहता को बयां करते हुए बस में सवार वलसाड के योगेश प्रजापति ने बताया, 'हम अमरनाथ के दर्शन करके लौट रहे थे। श्रीनगर से हमारी बस शाम को 5 बजे निकली थी। दो घंटे के सफर के बाद अनंतनाग से 2 किलोमीटर पहले हमारी बस खराब हो गई थी। इसके बाद जैसे ही हमारी बस चलने को तैयार हुई तो बस की खिड़कियों पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसने लगीं।


कमेंट करें