विज्ञान/टेक्नोलॉजी

शनि ग्रह के चंद्रमा Enceladus पर मिले जीवन के संकेत, सतह पर दिखी बर्फ की मोटी चादर

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
196
| अप्रैल 14 , 2017 , 12:58 IST | कैलिफोर्निया

सौरमंडल में जीवन की तलाश साइंटिस्टों की सबसे पसंदीदा विषय है। नासा के साइंटिस्टों को इस खोज में एक नई उपलब्धि हासिल हुई है। नासा के साइंटिस्टों को शनि ग्रह के उपग्रह(मून) ऍनसॅलअडस पर जीवन के सबूत मिले हैं। शनि ग्रह के इस चांद ऍनसॅलअडस पर हाइड्रोजन के आणविक कण मिले हैं जो जीवाणुओं के भोजन के लिए काफी होता है।

जाहिर है जहां जीवाणुओं के जीवन की संभावना तलाश ली गई है, वहां जीवन बसने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता।

Ec 1

क्या है ऍनसॅलअडस

ऍनसॅलअडस हमारे सौर मण्डल के छठे ग्रह शनि का छठा सबसे बड़ा उपग्रह है। ऍनसॅलअडस आकार में बहुत छोटा है। इसका व्यास (डायामीटर) केवल 400 किमी है, जो शनि के सबसे बड़े चद्रमा, टाइटन का सिर्फ़ दसवां हिस्सा है।

Ec 2

इस छोटे आकार के उपग्रह की सतह पर टीले-खाइयों से लेकर उल्कापिंडों के प्रहार से बने हुए गड्ढों तक तरह-तरह की चीजें देखी जाती हैं। ऍनसॅलअडस की सतह पर बर्फ की एक मोटी तह फैली हुई है। इस बर्फ़ीली सतह की वजह से ही साइंटिस्टों की यहां जीवन की संभावना नजर आ रही है।

Microbes

ऍनसॅलअडस की सतह पर समुद्र के भी संकेत

नासा के सांइटिस्टों की टीम के लीडर हंटर वेटे ने अमेरिकी न्यूज चैनल सीबीएस को बताया है कि,

हमने शनि ग्रह के उपग्रह ऍनसॅलअडस पर जीवाणुओं के भोजन के लिए जरूरी हाइड्रोजन के आणविक कणों की तलाश कर ली है। इतना ही नहीं ऍनसॅलअडस की सतह पर समुद्र के भी संकेत मिले हैं जिससे पता लगता है कि यहां जीवन होगा

गौरतलब है कि साइंटिस्टों को शनि ग्रह के उपग्रह ऍनसॅलअडस की सतह पर हाइड्रोजन के आणविक कण बर्फ के टुकडों की आकार में मिले हैं और इसकी पूरी सतह बर्फ की चादरों से ढंकी हुई है।

देखिए वीडियो


कमेंट करें