इंटरनेशनल

सउदी अरब के शाह ने नवाज से पूछा- आप हमारे साथ हैं या कतर के

सतीश वर्मा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
228
| जून 14 , 2017 , 23:43 IST | इस्लामाबाद

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के साथ एक मुलाकात में सउदी अरब के शाह सलमान ने उनसे सवाल पूछ कर एक बार फिर उनकी किरकिरी कर दी। शाह सलमान ने उनसे पूछा कि आप हमारे साथ हैं या कतर के साथ?

Nawaz 1

बता दें कि शरीफ कतर संकट का कूटनीतिक समाधान तलाशने के लिए खाड़ी देश गए थे।

अंग्रेजी अखबार एक्सप्रेस ट्रिब्‍यून ने राजनयिक सूत्रों के हवाले से कहा कि सउदी अरब के शाह ने सोमवार को जेद्दा में शरीफ से मुलाकात के दौरान उनसे कहा कि वे कतर पर अपना रुख स्पष्ट करें।

Qatar 2

पाक ने दिया जवाब वह किसी एक का पक्ष नहीं लेगा

अखबार में कहा गया है कि जब रियाद ने इस्लामाबाद से पूछा कि 'आप हमारे साथ हैं या कतर के' तो इस पर पाकिस्तान ने सउदी अरब को जवाब दिया कि पश्चिम एशिया में बढ़ते राजनयिक संकट के बीच वह किसी एक का पक्ष नहीं लेगा। कतर के साथ सउदी तथा अन्य खाड़ी देशों के राजनयिक संपर्क खत्म कर लेने के बाद से पाकिस्तान बड़े एहतियात के साथ कदम उठा रहा है।

Gulf

कतर पर आतंकी समूहों को समर्थन देने का आरोप

इन देशों का आरोप है कि तेल सम्पन्न कतर आतंकी समूहों को समर्थन देता है। हालांकि सउदी अरब चाहता है कि पाकिस्तान उसका साथ दे। क़तर पर आरोप है कि एक लम्बे समय से वो आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा है और आतंकी गतिविधियों के लिए धन भी मुहैया करा रहा है ,बता दें 9/11 हमले के बाद से अमरीकी नीत वैश्विक गठबंधन की ओर से चरमपंथियों की आर्थिक मदद को ख़त्म करने की लगातार कोशिश हो रही है।

9.11

9/11 के विमान अपहरणकर्ताओं में 19 में से 15 सऊदी नागरिक थे। 2009 में विकीलीक्स द्वारा प्रकाशित राजयनिक संदेशों से पता चलता है कि चरमपंथ को आर्थिक मदद देने के मामले से कड़ाई से निपटने के लिए सऊदी अरब को मनाने में अमरीका को लगातार निराशा हाथ लगी है।

सऊदी अरब ने पेट्रोलियम संपदा से मिले धन को पूरी दुनिया में स्कूलों और मस्जिदों के मार्फ़त कट्टर वहाबी धारा के प्रचार में ख़ूब इस्तेलमाल किया,कुछ लोग आरोप लगाते हैं कि वहाबी धारा चरमपंथ का स्रोत है,लेकिन क़तर के मामले में सभी सतर्क हैं , साऊदी अरब भी।

जानिए कतर के बारे कुछ महत्वपूर्ण बातें

कतर की आबादी करीब 22 लाख है, जिसमें यहां के नागरिक कुल संख्या का 10 फीसदी हैं

1971 में यहां उत्तरी गैस फील्ड की खोज हुई और उसी साल से यह आत्मनिर्भर बन गया

इंजिनियरों को यहां गैस के विशाल भंडार का पता लगाने में बरसों लगे लेकिन उसके बाद यह रूस और ईरान के बाद दुनिया में गैस भंडार के मामले में तीसरे नंबर पर आ गया

प्राकृतिक गैस ने ही कतर को संपन्न बनाया है और इसी की मदद से यह खाड़ी देश मौजूदा राजनयिक संकट से बाहर आ सकता है

कतर दुनिया में तरल प्राकृतिक गैस का सबसे बड़ा निर्यातक है। प्राकृतिक गैस की कतर से होने वाली आपूर्ति पर कई देश निर्भर हैं

कतर 2022 में फीफा वर्ल्ड कप की मेजबानी भी करने जा रहा है। तेल की कमाई से ही स्टेडियम बनेगा,राजधानी दोहा को विकसित किया जाएगा

Oil

 


कमेंट करें