नेशनल

प्रद्युम्न की हत्या उसके सीनियर ने की थी, कोर्ट ने आरोपी को 3 दिन की CBI रिमांड पर भेजा

ललिता सेन, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
208
| नवंबर 8 , 2017 , 18:39 IST | गुरुग्राम

गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्‍कूल में 8 वर्षीय छात्र प्रद्युम्‍न की हत्‍या के मामले में नया मोड़ आ गया है।

इस मामले की जांच कर रही सीबीआई ने स्कूल के ही 11वीं के एक छात्र (16) को हिरासत में लिया है। इसके बाद आरोपी छात्र को जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड में पेश किया गया। जुवेनाइल बोर्ड ने आरोपी छात्र को तीन दिन की रिमांड में भेज दिया है। बोर्ड ने कहा है कि सीबीआई अफसर सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक ही आरोपी छात्र से पूछताछ कर सकेंगे। पूछताछ के बाद आरोपी छात्र को ऑब्जर्वेशन में भेज दिया जाएगा।

सीबीआई ने कहा कि पेरेंट्स टीचर मीटिंग और एक्जाम को टालने के लिए प्रद्युम्न का कत्ल किया गया था। सीबीआई ने ये भी साफ किया है कि हत्या के पीछे शारीरिक शोषण की वजह नहीं है।

सीबीआई ने बताया हत्या करने के बाद आरोपी छात्र ने चाकू को फ्लश किया सीबीआई ने ये भी साफ़ किया है कि इस मामले में गिरफ्तार कंडक्टर अशोक को अभी क्लीनचिट नहीं दी गई है।

सीबीआई ने बताया कि आरोपी छात्र अपने साथ चाकू लेकर स्कूल जाता था। उसकी मानसिक अवस्था सही नहीं थी और इसके लिए उसकी दवाई भी चल रही थी।

सीबीआई द्वारा गिरफ्तार किए गए 11वीं के छात्र के पिता का कहना कि उनका बेटा निर्दोष है। सीबीआई पहले ही उससे 4-5 बार पूछताछ कर चुकी है। इसके अलावा गुरुग्राम पुलिस भी जांच के दौरान सीआरपीसी की धारा 164 के तहत मेरे बेटे का बयान दर्ज करा चुकी है। बता दें कि, बताया जा रहा है इस 11वीं के छात्र ने ही टॉयलेट के पास स्कूल के माली को सबसे पहले देखा था।

2

गिरफ्तार किए गए छात्र के पिता का कहना है कि, उनक बेटा बेगुनाह है। उन्होंने कहा कि, पहले दिन से ही हम पुलिस और फिर सीबीआई की जांच में मदद और सहयोग कर रहे हैं। कई राउंड में पूछताछ के बाद उन्होंने मेरे बच्चे को ही फंसा दिया। मेरे बेटे ने किसी का मर्डर नहीं किया है बल्कि वह तो मदद कर रहा था।

गौरतलब है कि 8 सितंबर को सोहना क्षेत्र स्थित स्कूल के शौचालय में दूसरी क्लास में पढ़ने वाले छात्र प्रद्युम्‍न का शव मिला था। छात्र का गला रेतकर हत्या की गई थी। हत्या के आरोप में गुरुग्राम पुलिस ने 9 सितंबर को स्कूल के बस कंडक्टर अशोक को गिरफ्तार किया था। इस हत्याकांड की जांच में पॉर्नोग्रफी और प्रद्युम्न को सेक्शुअली असॉल्ट किए जाने की बात भी सामने आ रही है।

हरियाणा सरकार द्वारा इस केस की जांच के लिए तीन सदस्यीय टीम गठन किया गया था, जिसने अपनी जांच रिपोर्ट गुड़गांव पुलिस को सौंपी थी। इस रिपोर्ट में रेयान स्कूल की कई कमियां सामने आई थी। जिसमें स्कूल कैंपस में लगे सीसीटीवी कैमरे खराब मिले थे। यहां तक की स्कूल बाउंड्री वॉल टूटी हुई थी, जिससे अंदर आना-जाना बेहद आसान था।


कमेंट करें