नेशनल

कांग्रेस नेता जयराम रमेश का बयान, हमारी सल्तनत जा चुकी है लेकिन व्यवहार सुल्तानों जैसा

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
208
| अगस्त 8 , 2017 , 12:29 IST | नई दिल्ली

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने अपनी ही पार्टी के अस्तित्व पर सवाल खड़े कर दिए हैं। जयराम रमेश का मानना है कि कांग्रेस पार्टी इस वक्त अस्तित्व के संकट से जूझ रही है और उस पर अप्रासंगिक होने का खतरा मंडरा रहा है। उन्होंने साफ कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की तरफ से पेश चुनौती से निपटने के लिए पार्टी नेताओं को सामूहिक प्रयास करने होंगे। उन्होंने कहा कि सल्तनत जा चुकी है, लेकिन हम ऐसे व्यवहार करते हैं जैसे अभी भी सुल्तान हैं।

10-JairamRamesh_5

जयराम रमेश ने अपने बयान में कहा कि मोदी और शाह के खिलाफ कांग्रेस का सामान्य दृष्टिकोण काम नहीं आएगा। पार्टी को प्रासंगिक बने रहने के लिए उसमें लचीलापन लाना होगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने 1996 से 2004 तक चुनावी संकट का सामना किया था। पार्टी ने 1977 में भी चुनावी संकट का सामना किया था, जब वह आपातकाल के बाद चुनाव हार गई थी। लेकिन, इस समय कांग्रेस अस्तित्व के संकट का सामना कर रही है। पार्टी वास्तव में गहरे संकट में है।

जयराम ने कहा कि कांग्रेस के लिए यह सोचना पूरी तरह गलत है कि भाजपा शासित राज्यों में सत्ता विरोधी लहर अपने आप काम करेगी। उन्होंने कहा, 'हमें यह समझना होगा कि हम मोदी और शाह के खिलाफ है। वे अलग तरीके से सोचते हैं, उनकी कार्यशैली अलग है और अगर हम अपने दृष्टिकोण में लचीलापन नहीं लाए तो अप्रासंगिक हो जाएंगे। यह भी समझना होगा कि भारत बदल चुका है। पुराने नारे अब नहीं चलेंगे, पुराने फॉर्मूले और मंत्र भी अब काम नहीं आएंगे।'

जब जयराम से पूछा गया कि क्या कांग्रेस में कोई ऐसा है जो 2019 के चुनावों में मोदी को कड़ी चुनौती दे सके, इस पर जयराम ने कहा, वह हमेशा से कहते रहे हैं कि कोई जादुई छड़ी नहीं, बल्कि कांग्रेस की सामूहिक शक्ति ही मोदी का मुकाबला कर सकती है। उन्होंने कहा, 'हमें सोचने का तरीका, कार्यशैली, छवि निर्माण का तरीका और संवाद शैली पूरी तरह बदलनी होगी।




कमेंट करें