ख़ास रिपोर्ट

अलगाववादी गिलानी के पास है संपत्ति का अंबार, जानिये पूरी फैमिली की प्रॉपर्टी का चिट्ठा

मनीष शुक्ला, संवाददाता, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 1
363
| अगस्त 4 , 2017 , 15:02 IST | नयी दिल्ली

कश्मीर घाटी में जहां एक तरफ सेना आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन 'ऑल-आउट' चला रही है वहीं भारत की जांच एजेंसियां घाटी में आतंक के पनाहगारों और समर्थकों को सीमापार से हो रही आतंकी फंडिंग पर देश के गद्दारों पर नकेल कसने में जुटी हुई हैं। राष्टीय जांच एजेंसी यानि NIA ने कश्मीर घाटी में सीमापार से हुर्रियत नेताओं को की जा रही फंडिंग का खुलासा कर उनके असली चेहरे को सबके सामने ला दिया है। एनआईए कुछ अलगाववादी नेताओं को गिरफ्तार कर पूछताछ भी कर रही है।

इस बीच सूत्रों के हवाले से खबर मिली है कि कश्मीर घाटी में हुर्रियत नेताओं की अकूत संपत्तियों पर जांच एजेंसियों की नज़र टेढ़ी हो गई है। कश्मीर घाटी में हुर्रियत नेता सैयद अली शाह गिलानी और उसके परिवार की प्रॉपर्टी का खुलासा हुआ है। ख़ुफ़िया सूत्रों की मानें तो गिलानी परिवार के पास कश्मीर घाटी और देश के अन्य हिस्सों में मिलाकर तकरीबन 150 करोड़ रुपये की प्रॉपर्टी मौजूद है।

C

जांच एजेंसियों ने इस खुलासे के बाद अपनी जांच का दायरा और बढ़ा दिया है। जांच एजेंसियां गिलानी परिवार की प्रॉपर्टी का पूरा डिटेल्स खंगाल रही हैं। जल्द ही जांच एजेंसियां गिलानी परिवार से इन संपत्तियों का ब्यौरा तलब कर सकती है। सूत्रों के मुताबिक हुर्रियत के नेता सैयद अली शाह गिलानी और उसके परिवार पर एनआईए और प्रवर्तन निदेशालय यानि ईडी का शिकंजा कस सकता है। जांच एजेंसियां गिलानी परिवार की संपत्तियों को ज़ब्त भी कर सकती है।

जानिए अलगाववादी नेताओं की प्रोपर्टी का कच्चा चिट्ठा:

1.सैय्यद अली शाह गिलानी

सोपोर में पैतृक बंगला, जिसकी कीमत 1 करोड़ रुपए से अधिक है। दो कैनाल जमीन पर बना हुआ है दो मंजिला घर। श्रीनगर के रहमताबाद कालोनी में निवास और कार्यालय 1.5 कैनाल जमीन पर बना हुआ। ये मिल्ली ट्रस्ट के नाम पर रजिस्टर्ड है, जिसमें पांच सदस्य हैं- बशीर अहमद उर्फ पीर सैफुल्लाह, मोहम्मद अशरफ, अल्ताफ अहमद शाह, जवाहिरा बेगम और डॉ नईम गिलानी। गिलानी की बुलबुल बाग बाराजुला में दो मंजिला आलीशान कोठी भी है जिसकी कीमत लाखों में है।

Ali-Shah-Geelani

श्रीनगर में यूनिक पब्लिक स्कूल। इसी जमीन का कुछ हिस्सा ग्रामीणों ने दान किया है और कुछ गिलानी की प्रापर्टी है। यह स्कूल एक ट्रस्ट के द्वारा संचालित है, गिलानी ने अपने छोटे बेटे नसीम गिलानी को इस स्कूल का चेयरमैन नियुक्त किया है।

गिलानी के पास दिल्ली के खिड़की एक्सटेंशन की गुप्ता कालोनी में दो बेडरुम का फ्लैट भी है। इसके लिए गिलानी ने 8 लाख रुपए चुकाए थे। इसे हवाला ऑपरेटर जीएम भट्ट के नाम पर रजिस्टर किया गया है। 

गिलानी के पास श्रीनगर के बाग-ए-महताब में दो मंजिला घर है, जिसकी रजिस्ट्री गिलानी की सबसे बड़ी बेटी के नाम पर की गई है। एक दूसरा तीन मंजिले का बंगला श्रीनगर के बेमिना की आधा कैनाल जमीन पर बना हुआ है। यह बंगला गिलानी की बेटी जाहिदा के नाम पर रजिस्टर्ड है। गिलानी के पास पाटन के सिंगापोर में 100 से 150 कैनाल की जमीन है। इसके अलावा रहमताबाद में गिलानी के नाम पर दो मंजिल का घर भी है । हैदरपोरा में चार वाहन भी गिलानी के नाम पर हैं। ख़ुफ़िया सूत्रों के मुताबिक गिलानी का बेटा नसीम गिलानी ही परिवार के सारे रियल एस्टेट बिजनेस को हैंडल करता है।

2.अल्ताफ फंटूश (सैयद अली शाह गिलानी का दामाद) 

सैयद अली शाह गिलानी के दामाद अल्ताफ फंटूश के पास डोमपुरा में जमीन है। इसके अलावा संबल, जैनकुंड-बांदीपुरो रोड पर अल्ताफ फंटूश, एडवोकेट शफी रिशी और उनके भतीजे याशीर रिशी (एमएलसी) के नाम पर 100 से 150 कैनाल की जमीन है।

3.अल्ताफ अहमद शाह (सैयद अली शाह गिलानी का दूसरा दामाद)

अल्ताफ अहमद शाह हुर्रियत कांफ्रेंस गिलानी धड़े का मुख्य आर्गेनाइजर है और सैयद अली शाह गिलानी का दामाद है। इसके पास बाग-ए-महताब में दो मंजिला घर है जो आधा कैनाल जमीन पर बना हुआ है। भटिंडा में दो कमरे का घर और लाल चौक में पुश्तैनी होजरी की दुकान है। गांदलबल के हंडूरा गांव में 8 कैनाल जमीन है। श्रीनगर के बेमिना इलाके की एचआईजी कालोनी में दो मंजिल का मकान भी है।

4.नसीम गिलानी (सैयद अली शाह गिलानी का बेटा)

नसीम गिलानी अली शाह गिलानी का बेटा है। इसके पास श्रीनगर के रावल पोरा में खुद का घर है। सोपोर के दोरू में जमीन और बगीचा है। नसीम गिलानी ने मार्च 2017 में यूनिक पब्लिक स्कूल सोपोर में बतौर चेयरमैन कामकाज संभाल लिया है। गिलानी परिवार सोपोर में 8 कैनाल जमीन खरीदने का इच्छुक था जिसे गांव वालों ने वर्ष 1980 में स्कूल के लिए दान किया था। एनआईए इनकी दो बेनामी संपत्ति की पड़ताल भी कर रही है।

5.नईम गिलानी (सैयद अली शाह गिलानी का बेटा)

नईम गिलानी सैयद अली शाह गिलानी का बेटा है। ये अपने भाई नसीम गिलानी के साथ श्रीनगर के रावलपुरा बाईपास पर 4 कैनाल खेती वाली जमीन का साझा मालिक है। इसके पास सोपोर के डोरू में 40 कैनाल की जमीन औऱ बगीचा है। नईम श्रीनगर के सनतनगर में 8 कमरे के एक घर का मालिक भी है। इसके पास दिल्ली के वसंत कुंज इलाके में एक फ्लैट है। इसके पास सेब का बगीचा और 5.5 कैनाल जमीन पर बने दो घर भी है। इसकी भी दो बेनामी संपत्तियां एनआईए की पड़ताल के दायरे में है। 

6.मीरवाइज उमर फारूख (हुर्रियत कांफ्रेंस नेता)

कश्मीर घाटी का ये नेता अकूत संपत्ति का मालिक है। मीरवाइज़ उमर फारूख की जामिया मस्जिद नौहटा इलाके में 100-150 दुकानें हैं जिनसे हर महीने इस अलगाववादी नेता को करीब 10 लाख से अधिक किराए की रकम आती है। श्रीनगर के राजौरी कदम के मीर वाइज मंजिल में शॉपिंग कांप्लेक्स से भी होती है मोटी कमाई। इस कांप्लेक्स की 17 दुकानें किराए पर है जिनका किराया सीधे मीरवाइज की जेब में जाता है। एक कैनाल जमीन पर एक बहुमंजिला शापिंग कांप्लेक्स जिसमें 50 दुकानें हैं। इन दुकानों से भी मीर वाइज़ को मोटी कमाई होती है।

Maxresdefault-4

इसके अलावा श्रीनगर के निगीन में 3 कैनाल जमीन पर पुश्तैनी घर है । श्रीनगर के लाल बाजार के मौलवी स्टाप पर शॉपिंग काम्पलेक्स में भी मीरवाइज़ की  17 से 18 दुकानें हैं। यहां मीर वाइज़ की तरफ से देखरेख करने वाला आदमी गुलाम कादिर बेग रहता है और सारी प्रॉपर्टी की देखभाल करता है। इसके अलावा अनंतनाग के बस स्टैंड पर कुछ दुकानें हैं। ये दुकानें नुसरत उल इस्लाम के नाम पर हैं। इसके अलावा पटट्न और बारामुला में कुछ दुकानें हैं। वहीं श्रीनगर के नावा बाजार में ऑफिस सहित श्रीनगर के अली मस्जिद इलाके और निशात इलाके में दुकानें भी हैं।


कमेंट करें