खेल

इंडिया के तेज गेंदबाज के मम्मी-पापा रोड एक्सीडेंट में घायल, अस्पताल में भर्ती

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
441
| मई 9 , 2018 , 12:36 IST

भारतीय तेज गेंदबाज शार्दुल छाकुर के लिए बुरी खबर आई है। शार्दुल ठाकुर के पिता नरेंद्र ठाकुर और मां हंसा ठाकुर को सड़क हादसे चोटिल हो गए हैं। जिसके कारण उन्हें हॉस्पिटल में भर्ती होना पड़ा। यह हादसा उस वक्त हुआ जब वो मुंबई के पालघर से एक शादी समारोह में शामिल होकर घर लौट रहे थे तभी रास्ते में बाइक के अनियंत्रित हो जाने के कारण वो गिर पड़े। जिसके बाद दोनो को धवले के अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

आपको बता दें कि सीएसके की टीम को अगला मैच 11 मई को राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ खेलना है। मैच जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम में खेला जाना है। टीम अभी एक-दो दिन पहले ही जयपुर पहुंची है। ऐसे में माना जा रहा है कि शार्दुल अपने माता-पिता को देखने के लिए जाएंगे।

11 मई को शार्दुल टीम सिलेक्शन के लिए मौजूद होंगे या नहीं, इसकी कोई जानकारी नहीं है। शार्दुल के लिए अभी तक मौजूदा सीजन मिला-जुला रहा है। शार्दुल ने सीएसके के लिए सात मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने 8 विकेट लिए हैं। सीएसके की टीम का प्लेऑफ में पहुंचना लगभग तय माना जा रहा है। प्लेऑफ में जगह पक्की करने के लिए सीएसके को महज एक जीत और दर्ज करनी है।

अपने खेल से लोगों को ध्यान खींचने वाले तेज गेंदबाज शार्दुल ठाकुर को इंग्लैंड दौरे के लिए भारतीय वनडे टीम में शामिल किया गया है।

शार्दुल ठाकुर नकल बॉल से विकेट लेने में काफी माहिर माने जाते हैं। बैकअप तेज गेंदबाज होने की चुनौतियों के बारे में पूछने पर ठाकुर ने कहा था, ‘मैने पहले भी एक बात कही है कि मुझे चुनौतियों का सामना करना पसंद है। मैं इसे चुनौती की तरह ले रहा हूं।’

उन्होंने कहा था, ‘टीम में अगर बाकी सीनियर गेंदबाज नहीं है तो मुझे अतिरिक्त प्रयास करने होंगे। मैं पहले भी रणजी ट्राफी में मुंबई के लिये जहीर खान, धवल कुलकर्णी और अजित अगरकर की जगह खेल चुका हूं।’

इसे भी पढ़ें-: अफगानिस्तान के खिलाफ टेस्ट में रहाणे करेंगे कप्तानी, BCCI ने की घोषणा

भुवनेश्वर समेत कई भारतीय गेंदबाज ‘नकल बाल ’ (धीमी गेंद का एक प्रकार) खूब डाल रहे हैं जिसका इजाद जहीर खान ने किया था, लेकिन शार्दुल ठाकुर ने कहा कि उन्होंने यह कला खुद सीखी है। उन्होंने कहा, जहीर ने इसकी शुरुआत की, लेकिन मैंने उनके ज्यादा वीडियो नहीं देखे हैं। मुझे हमेशा से पता था कि गेंद पर पकड़ क्या होती है और मैने इसके बाद खुद इसे सीखा।


कमेंट करें