नेशनल

सोमवार से शुरू हो रहा है सावन, ये काम बिल्कुल ना करें नहीं तो महादेव हो जाएंगे नाराज

श्वेता बाजपेई, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
472
| जुलाई 9 , 2017 , 14:05 IST | नयी दिल्ली

शास्त्रों में बताया गया है कि सावन महीना भगवान शिव का माह होता है । कहते हैं इस पूरे महीने उनकी आराधना करने से सारी मुराद पूरी होती है। इस बार भगवान शिव का प्रिय मास सावन में 50 साल बाद विशेष संयोग बन रहा है। खास बात यह है इस बार सोमवार से इस माह की शुरुआत हो रही और समापन भी सोमवार को ही होगा। यह काफी शुभ फलदायक है। 10 जुलाई से सावन की शुरुआत होगी और 7 अगस्त को रक्षाबंधन यानी सावन पूर्णिमा है।अमूमन सावन में चार सोमवारी होती है, लेकिन इस बार पांच सोमवारी है।

सावन के सोमवार से प्रसन्न हो जाते हैं शिव भगवान

सावन महीने के प्रत्येक सोमवार को शिव की पूजा करनी चाहिए। इस दिन व्रत रखने और भगवान शिव के ध्यान से विशेष लाभ प्राप्त किया जा सकता है। यह व्रत भगवान शिव की प्रसन्नता के लिए किये जाते हैं। व्रत में भगवान शिव का पूजन करके एक समय ही भोजन किया जाता है। साथ ही साथ गले में गौरी-शंकर रूद्राक्ष धारण करना भी शुभ रहता है।

पूजन में शिव मंत्र का जप करें

सावन के महीने में शिव पूजन के साथ ही शिव मंत्र 1- ऊँ महाशिवाय सोमाय नम:। या शिव मंत्र 2-ऊँ नम: शिवाय। मंत्र जप की संख्या कम से कम 108 होनी चाहिए। जप के लिए रुद्राक्ष की माला का उपयोग सर्वश्रेष्ठ रहता है। शिव परिवार प्रथम पूज्य श्री गणेश, माता पार्वती, कार्तिकेय, नंदी, नाग देवता का भी पूजन करें।

 कैसे करे भगवन शिव को प्रसन्न-

१.सावन के पहले सोमवार को शिव जी को एक मुठ्ठी कच्चे चावल चढ़ाये इससे शिव भगवान प्रसन्न होते हैं।
२.सावन के दूसरे सोमवार को शिव जी को एक मुठ्ठी सफेद तिल चढ़ाने चाहिए ।
३.तीसरे सोमवार को महादेव के शिवलिंग रूप को एक मुट्ठी खड़े मूंग अर्पित करें।
४.चौथे सोमवार को शिवलिंग पर एक मुट्ठी जौ चढ़ाए।
५.ऐसा माना जाता है की सावन के आखिरी सोमवार को शिवलिंग पर एक मुट्ठी सत्तू चढ़ाना चाहिए।

सावन में किन किन चीज़ो से बचें?

१.सावन के महीने में मांस-मदिरा आदि के सेवन नहीं करना चाहिए।
२.शादी जैसा शुभ कार्य नहीं करने चाहिए। इसके अलावा ब्रह्मचर्य व्रत के नियमों का पालन करना चाहिए।
३.सावन के महीने में एक व्रती को हरी सब्जियां और साग नहीं खाना चाहिए।
४.शरीर पर तेल नहीं लगाना चाहिए और न ही कांसे के बर्तन में खाना-खाना चाहिए।
५.पूजा के समय में शिवलिंग पर हल्दी न चढ़ाएं।

६.सावन के महीने में दूध का सेवन अच्छा नही होता है। यही कारण है क‌ि सावन में भगवान श‌िव का दूध से अभ‌िषेक करने की बात कही गई है।
७.सावन के महीने में द‌िन के समय नहीं सोना चाह‌िए।
८.सावन के महीने में बैंगन नहीं खाना चाह‌िए। बैंगन को अशुद्ध माना गया है इसल‌िए द्वादशी, चतुर्दशी के द‌िन और कार्त‌िक मास में भी इसे खाने की मनाही है।
९.इस महीने में अगर घर के दरवाजे पर सांड आ आए तो उसे मार कर भगाने की बजाय कुछ खाने को दें।


कमेंट करें