राजनीति

गोरखपुर में हुई 'सामूहिक बाल हत्या', सिद्धार्थ नाथ सिंह का इस्तीफा लो: शिवसेना

श्वेता बाजपेई, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
233
| अगस्त 14 , 2017 , 11:47 IST | मुंबई

गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की कमी की वजह से करीब 60 बच्चों की मौत पर शिवसेना का बड़ा बयान आया है। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे नें पार्टी के मुखपत्र पर सीएम योगी और पीएम मोदी पर जमकर निशान साधा है। उन्होंने कहा है कि अस्पताल में बच्चों की मौत सामूहिक बाल हत्याकांड है।

शिवसेना ने अपने मुखपत्र 'सामना' में नाराजगी जाहिर करते हुए योगी सरकार ही नहीं मोदी सरकार को भी घेरने की कोशिश की है। सामना में लिखा कि

उत्तर प्रदेश में हुआ ये बड़ा हादसा, स्वतंत्रता दिवस का अपमान है। गरीबों के साथ जो हुआ, ये बेहद निंदनीय है, उनकी 'मन की बात' को समझने की बजाय, उनकी वेदनाओं की खिल्ली उड़ाई जाती है, आखिर इस हत्याकांड के लिए जिम्मेदार कौन है?

 

सामना में लिखा गया कि

'सामूहिक बालहत्या' के बावजूद अस्पतालों में उन्हें वो सुविधाए नहीं दी गई, जो मिलनी चाहिए। सामना में लिखा गया कि केंद्र में परिवर्तन आने से पहले अच्छे दिन का वादा किया गया, लेकिन अस्पतालों में जो हालात हैं, ये लोगों की बदकिस्मती है। क्योंकि, ऐसी सुविधाओं से यही आंका जा सकता है कि गरीबों के लिए अस्पतालों में अच्छे दिन नहीं आए हैं।

 

‘सामना’ के जरिए उद्धव ठाकरे ने यूपी के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह पर भी निशाना साधा है। उन्होंने कहा है,

सिद्धार्थनाथ सिंह का बयान बेहद शर्मनाक और बेशर्मी वाला था। उद्धव ने सीएम योगी से सिद्धार्थनाथ का इस्तीफा लेने की मांग की है।

 

गौरतलब है कि स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने मीडिया से बात करते हुए कहा था कि पिछले कई सालों से अगस्त के महीने में कई बच्चे गोरखपुर के इस हॉस्पिटल में दिमागी बुखार की चपेट में आकर जान देते है। उन्होंने आंकड़े भी पेश किए। हालांकि उन्होंने सीधे तौर पर तो नहीं कहा लेकिन, उनकी बात का अर्थ ये ही था कि हर साल अगस्त में बच्चे मरते ही है।


कमेंट करें