नेशनल

अकाउंट सस्पेंड होने पर बोले अभिजीत, मोदी और हिन्दू विरोधी है Twitter

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
92
| मई 24 , 2017 , 19:51 IST | मुंबई

अभद्र व लैंगिक ट्वीट करने के कारण अपना ट्विटर अकाउंट गंवाने वाले गायक अभिजीत भट्टाचार्य ने कहा है कि ट्विटर राष्ट्र विरोधी, नरेंद्र मोदी विरोधी और हिंदू विरोधी है। यह पहली बार नहीं है जब अभिजीत विवादों में घिरे हों।

वह दक्षिणपंथ के एक सक्रिय समर्थक हैं और सोशल मीडिया पर उदारवादी तत्वों से कई मुद्दों पर उलझते रहे हैं। हाल में राजनीतिक महत्व के मुद्दों और ट्वीट पर वह विवादों में रहे हैं। अभिजीत ने ट्विटर पर कुछ महिला उपयोगकर्ताओं, खासकर जवाहर नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) की छात्र-कार्यकर्ता शहला राशिद के खिलाफ आपत्तिजनक और लैंगिक टिप्पणी की थी, जिसके बाद मंगलवार को ट्विटर ने गायक के अकाउंट को बंद कर दिया।

इससे वह नाराज हैं। स्विट्जरलैंड के इंटरलाकेन से आईएएनएस से वाट्सएप पर एक चर्चा के दौरान अभिजीत ने कहा,

ट्विटर राष्ट्र विरोधियों, मोदी विरोधियों, सैन्य विरोधियों, हिंदू विरोधियों और आतंकवाद के समर्थकों का मंच है। मैं कहना चाहूंगा कि सभी नक्सलियों को गंभीर रूप से दंडित किया जाना चाहिए। यह जेहादियों का ट्विटर है।

 

अभिजीत ने कहा,

हम केवल गायक नहीं हैं। हम देश की आवाज हैं और खुलकर राष्ट्र विरोधियों का विरोध कर रहे हैं। ट्विटर हमारी आवाज को बंद करने की कोशिश कर रहा है।

शहला ने जब भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेताओं से जुड़े सेक्स स्कैंडल के बारे में बात की तो ट्विटर पर अभिजीत तथा कई अन्य ने उनके खिलाफ अपशब्दों का इस्तेमाल किया और उन्हें ट्रोल किया। गायक ने अपने ट्वीट के जरिये शहला के चरित्र पर सवाल उठाए थे। एक अन्य महिला यूजर के विरोध जताने पर उन्होंने उन पर भी खराब टिप्पणी कर दी। अभिजीत ने आईएएनएस से कहा,

"मेरे अकाउंट के बंद होने के पीछे (लेखिका व कार्यकर्ता) अरुं धति राय और जेएनयू का समूह है। मैंने और (अभिनेता) परेश रावल ने अरुं धति के देश विरोधी रुख के खिलाफ ट्वीट किया था।"

अरुंधति के खिलाफ एक ट्वीट में अभिनेता परेश रावल ने कहा था,

सेना की जीप से एक पत्थरबाज को बांधने की बजाय अरुंधति को बांधा जाना चाहिए।

 

पत्थरबाजों के हमले से निपटने के लिए पिछले दिनों सेना ने एक कश्मीरी युवक को जीप के बोनट से बांधकर उसे मानव ढाल की तरह इस्तेमाल किया था, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद इसपर काफी हंगामा हुआ। मुद्दे पर हंगामा तब और बढ़ गया, जब सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवाद से निपटने को लेकर उस अधिकारी को सम्मानित किया, जिसने कश्मीरी युवक को जीप से बांधने का फैसला किया था। रावल ने यह ट्वीट पाकिस्तानी मीडिया में यह खबर आने के बाद किया था कि अरुं धति ने कहा है कि कश्मीर मामले पर

भारत की आक्रामकता शर्मनाक है और दमन कश्मीरियों के संघर्ष को कम नहीं कर सकता।'

लेकिन, इस खबर की पुष्टि नहीं हो पाई और इसे झूठी खबर करार दिया गया। इसके कारण बुधवार को अभिनेता रावल ने भी अपना ट्वीट हटा दिया। अभिजीत पहले भी कई प्रकार के विवादों में फंसे हैं। पिछले साल ट्विटर पर एक महिला पत्रकार का अपमान करने के मामले में गायक को मुंबई पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया था, लेकिन बाद में उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया। हालांकि, उन्होंने लिखना बंद नहीं किया और भारतीय सिनेमा में पाकिस्तानी कलाकारों के काम करने को लेकर उठे विवाद पर भी अपनी टिप्पणी दी। अभिजीत ने कहा कि सोशल मीडिया अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का मंच नहीं है, क्योंकि इस पर आपको ट्रोल किया जाता है। इस मामले में अभिजीत और रावल का साथ देते हुए गायक सोनू निगम ने बुधवार को अपना ट्विटर अकाउंट बंद कर दिया। उन्होंने ट्विटर पर पक्षपात का आरोप भी लगाया। अजान मामले में लाउडस्पीकर पर रोक की बात को लेकर विवादों में रह चुके सोनू ने कहा कि सभी 'संवेदनशील देशभक्त ट्विटर छोड़ दें।' सोनू के इस समर्थन की प्रशंसा करते हुए अभिजीत ने कहा,

फिल्म जगत से सोनू एकमात्र ऐसे बहादुर इंसान हैं, जिन्होंने इन मुद्दों को हमारे साथ उठाया है।

 और हिन्दू विरोधी है TWITTER (1)


कमेंट करें