इंटरनेशनल

कारोबार खत्म होने के डर से लाइन पर आया भारत को 'गरीब' बताने वाला Snapchat, कहा- इंडिया पर हमें गर्व

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
105
| अप्रैल 23 , 2017 , 20:07 IST | न्यूयार्क

दुनिया की अग्रणी सोशल चैट एप कंपनी स्नैपचैट ने अपने सीईओ अधिकारी इवान स्पीगल के भारत को 'गरीब' बताने वाले बयान को लेकर सफाई दी है। अपने बयान के कारण पूरी दुनिया से आलोचनाएं झेलने और गूगल के एप स्टोर पर रेटिंग के गिरने से परेशान स्नैपचैट अब क्षतिपूर्ति करता नजर आ रहा है।

Ss

दरअसल, स्नैपचैट ने एक बयान जारी कर स्पीजेल के कथित बयान को 'हास्यास्पद' करार दिया है और कहा है कि यह बातें स्नैपचैट से नाराज उसके एक पूर्व कर्मचारी ने लिखी है।

स्नैपचैट ने अपने बयान में कहा है कि,

भारत और शेष विश्व में स्नैपचैट पर मौजूद समुदाय पर हमें गर्व है

स्नैपचैट ने बेचा है 24 अरब डॉलर का आईपीओ

इसी वर्ष मार्च में शेयर बाजार में सूचीबद्ध होने के बाद 24 अरब डॉलर का आईपीओ बेचकर चर्चा में आई स्नैपचैट को बाजार विश्लेषक शीर्ष सोशल साइट फेसबुक का प्रबल प्रतिद्वंद्वी मान रहे थे।

Ss4

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, अपने कारोबार को हो रहे नुकसान को देखते हुए स्नैपचैट ने क्षतिपूर्ति के इरादे से कहा है कि स्पीगल ने कभी ऐसा बयान नहीं दिया और स्नैपचैट के एक पूर्व असंतुष्ट कर्मचारी ने गुस्से में यह सब लिखा था।

स्नैपचैट के कर्मचारी ने की थी अदालत में भारत विरोधी बयान की शिकायत

हाल ही में स्नैपचैट के पूर्व कर्मचारी एंथनी पोम्प्लियानो ने अदालत में की गई अपनी शिकायत में स्पीगल के हवाले से यह बातें कही थीं, जिसे स्नैपचैट ने 'हास्यास्पद' कहा है।

पोम्प्लियानो ने इसी वर्ष जनवरी में लॉस एंजेलिस की सुपीरियर कोर्ट में यह मुकदमा दर्ज किया था। स्नैप इंक ने लिफाफाबंद इस गैर संपादित शिकायत की कॉपी को पिछले सप्ताह बिना संपादन के सार्वजनिक कर दिया।

इसी शिकायतनामा में पोम्प्लियानो ने दावा किया है कि सितंबर, 2015 में उनसे स्पीजेल ने स्नैपचैट के मोबाइल एप के अंतर्राष्ट्रीय विकास योजना के बारे में कहा था कि,

यह एप सिर्फ अमीर लोगों के लिए है। मैं इसे भारत और स्पेन जैसे गरीब देशों में नहीं ले जाना चाहता

दुनिया भर में हुई थी स्नैपचैट की आलोचना

स्पीगल का यह बयान सामने आने के साथ ही स्नैपचैट को समूचे विश्व से आलोचनाएं झेलनी पड़ी, खासकर भारत से। सोशल मीडिया पर लाखों की संख्या में स्नैपचैट के उपयोगकर्ताओं ने अपनी नाराजगी जाहिर की और गूगल के एप स्टोर पर उसकी रेटिंग गिरकर एक स्टार रह गई है।

Ss5


कमेंट करें