ख़ास रिपोर्ट

बढ़ेगी Indian Air Force की ताकत, जल्द आ रहा है CH-47D चिनूक हेलीकॉप्टर

प्रांजलि सिंह, संवाददाता, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 1
298
| जून 14 , 2017 , 19:12 IST | नई दिल्ली

इंडियन एयरफोर्स की क्षमता और ताकत में बहुत जल्द एक और इजाफा होने जा रहा है। वायुसेना के शीर्ष अधिकारी से मिली जानकारी के मुताबिक अगले साल इंडियन एयरफोर्स के पास हैवीलिफ्टर चिनूक हेलीकाप्टर होगा।

Chinook 2

गौरतलब है पिछले साल सितंबर के महीने में अमेरिकी ऐविएशन कंपनी बोईंग और भारत के बीच 22 अपाचे और 15 चिनूक हैवीलिफ्टर हेलीकॉप्टर की खरीद के लिए 3 बिलियन डॉलर में सौदा हुआ था।

बताया जा रहा है कि 2019 में यह कंपनी भारत को चिनूक हेलीकॉप्टर की पहली खेप भेज रही है।

Ch 5

यूएस आर्मी की ताकत है चिनूक हेलीकॉप्टर

बता दें कि CH-47D चिनूक हेलीकॉप्टर यूएस आर्मी की खास ताकत है। यह एक मल्टीमिशन श्रेणी का हेलीकॉप्टर है। बता दें कि ये वही हेलीकॉप्टर है जिसमें बैठकर अमेरिकी कमांडो ओसामा बिन लादेन को मारने गए थे।

Ch 6

यूएस आर्मी के पास 478 चिनूक हैवीलिफ्टर हेलीकॉप्टर हैं जो ऑपरेशनल हैं। यूएस आर्मी को वार फ्रंट पर हथियारों का जखीरा, आर्मी के लिए रसद, मेडिकल एड पहुंचाने समेत कई कामों के लिए चिनूक हेलीकॉप्टर दुनिया का सबसे सक्षम और ताकतवर चॉपर माना जाता है। प्राकृतिक आपदा के समय भी चिनूक हेलीकॉप्टर की मदद से ही आर्मी राहत पहुंचाने का काम करती है।

चीन और पाक के मोर्चे पर मददगार साबित होगा चिनूक

हमारी लड़ाई ढाई मोर्चे पर है, जिसे आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत ने भी माना है। जाहिर है जंग की स्थिति में इंडियन एयरफोर्स तैयारी भी उतनी ही तगड़ी करनी पड़ेगी। ऐसी स्थिति में चिनूक हेलीकॉप्टर भारतीय वायुसेना के लिए काफी मददगार साबित होगा।

क्या है चिनूक हेलीकॉप्टर की खासियत

लड़ाई के मैदान के लिए फिट

सैनिकों को एक जगह से दूसरे जगह ले जाना

वार फ्रंट पर सेना को हथियारों की सप्लाइ करना

सेना को रसद पहुंचाना

आर्टिलरी को यहां से वहां पहंचाना

लड़ाई के मैदान में ज़रूरत की सारी चीज़ो को पहुंचाना

एक बार में 10 से 11 हज़ार टन तक भार उठा सकता है

Chinook 1

 


कमेंट करें