इंटरनेशनल

दक्षिण कोरिया की बर्खास्त राष्ट्रपति पर भष्ट्राचार के आरोप, 77.4 अरब डॉलर की हेरा-फेरी

icon कुलदीप सिंह | 0
604
| अप्रैल 17 , 2017 , 19:09 IST

दक्षिण कोरिया के अभियोजकों ने बर्खास्त राष्ट्रपति पार्क ग्युन-हे पर चल रहे भ्रष्टाचार के मामले में अपनी जांच पूरी करते हुए उन पर रिश्वतखोरी समेत कई आरोप लगाए। समाचार एजेंसी योनहप के मुताबिक, अभियोजकों ने कहा कि पार्क पर सत्ता के दुरुपयोग, जबरन वसूली, रिश्वतखोरी और सरकारी दस्तावेजों का खुलासा करने के आरोप हैं। उन्हें 31 मार्च को हिरासत में लिया गया था।

पार्क पर अपनी मित्र चोई सून-सिल के साथ मिलकर व्यापारिक प्रतिष्ठानों को दो गैर लाभकारी संगठनों -मीर और के-स्पोर्ट्स को 77.4 अरब डॉलर की राशि दान में देने का दबाव डालने का आरोप लगाया गया है।

SK 1

पूर्व राष्ट्रपति पर लोट्टे और एसके समूहों से भी रिश्वत मांगने का आरोप लगाया गया है। एसके समूह को इस मामले में दोषी नहीं ठहराया गया, क्योंकि उसने पूर्व राष्ट्रपति द्वारा मांगी गई 8.9 अरब डॉलर की दानराशि नहीं दी।

अभियोजकों को संदेह है कि पार्क ने व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को रिश्वत के बदले उनके व्यवसाय में लाभ दिलाने का वादा किया था। पार्क ने कथित तौर पर जेल में पूछताछ के पांच चरणों के दौरान इन सभी आरोपों से इंकार किया है।

Sk 3

साल 2015-2016 तक राष्ट्रपति के असैन्य मामलों के वरिष्ठ सचिव वू ब्यूंग-वू को भी कथित तौर पर चोई को राजकीय मामलों से दूर रखने की अपनी जिम्मेदारी पूरी न करने के लिए आरोपी ठहराया गया है।

अभियोजक नौ मई को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव के लिए सोमवार को शुरू होने वाले आधिकारिक अभियान से पहले ही जांच पूरी कर लेना चाहते थे।

Sk 7


author
कुलदीप सिंह

Executive Editor - News World India. Follow me on twitter - @KuldeepSingBais

कमेंट करें