इंटरनेशनल

दक्षिण कोरिया में घुसकर एंटी मिसाइल प्रणाली की तस्वीरें ले रहा है उत्तर कोरिया

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
199
| जून 13 , 2017 , 19:09 IST | सियोल

दक्षिण कोरिया की सेना ने मंगलवार को कहा कि उसने पिछले सप्ताह अपनी सीमा के अंदर संदिग्ध उत्तर कोरिया के ड्रोन को थाड एंटी-मिसाइल सिस्टम की तस्वीर लेते हुए देखा है।

समाचार एजेंसी एफे के मुताबिक, नौ जून को दोनों देशों की सीमा के पास उसने एक डिवाइस जिसमें एक कैमरा और 64 जीबी का मेमोरी कार्ड लगा हुआ था, को टूटा हुआ पाया।

South_Korea_Koreas_Tensions_64452.jpg-857ad

रक्षा अधिकारी के मुताबिक, दक्षिण कोरियाई सेना ने उस ड्रोन को अपने हवाले ले लिया है और इस बात की पुष्टि की है कि उसने सियोंगजु में थाड की तस्वीरें ली हैं।

ड्रोन द्वारा दो से तीन मीटर की ऊंचाई से मिसाइल सिस्टम की 10 से ज्यादा तस्वीरें ली गई हैं, जबकि मेमोरी कार्ड में 100 से ज्यादा तस्वीरें मिली हैं, जिसमें बाकी तस्वीरें जंगल और निवास स्थान की हैं।

सियोल के अनुमान के मुताबिक, प्योंगयांग 300 से ज्यादा ड्रोन मिलट्री के लिए उपयोग में लेता है। उसका कहना है कि अगर इस बात की पुष्टि हो जाती है कि यह ड्रोन कहां का है तो यह उत्तरी कोरिया की जासूसी में हासिल की गई सफलता का परिचय होगा।

694940094001_5412110781001_5412101565001-vs

अमेरिका और दक्षिण कोरिया ने पूर्व राष्ट्रपति पार्क गेयुन हये ने थाड़ एंटी मिसाइल सिस्टम को जुलाई में लागू किया था, जिसका मकसद उत्तरी कोरिया द्वारा बार-बार किए जा रहे मिसाइल परिक्षण से बचाव करना था।

इस अप्रैल में लगाया जाना था, लेकिन दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जाए-इन ने इसे सात जून तक लागाने से मना कर दिया था और इसके पीछे उन्होंने पर्यावरण का हवाला दिया था। हालांकि इस तंत्र का एक हिस्सा लगाया जा चुका था, जो काम कर रहा है।

क्या है थाड एंटी मिसाइल प्रणाली?

यह प्रणाली मध्यम रेंज की बैलेस्टिक मिसाइलों को उड़ान के शुरुआती दौर में ही गिराने में सक्षम है

इसकी टेक्नोलॉजी हिट टू किल है यानी सामने से आ रहे हथियार को रोकती नहीं बल्कि नष्ट कर देती है

यह 200 किलोमीटर दूर तक और 150 किलोमीटर की ऊंचाई तक मार करने में सक्षम है

अमरीका ने इससे पहले गुवाम और हैती में भी इसकी तैनाती की है ताकि उत्तर कोरिया के हमलों से इन इलाकों को बचाया जाए


कमेंट करें