नेशनल

अजब-गजब: नीतीश राज में बिहार में चूहे हो गए शराबी, गटक गए 9 लाख लीटर शराब

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
194
| मई 5 , 2017 , 13:38 IST | पटना

बिहार में पिछले एक साल से शराबबंदी लागू है। पटना के एसएसपी मनु महाराज ने थानों द्वारा बरामद की गई शराब के संबंध में जानकारी ली, तो उनके होश उड़ गए। दरअसल, मनु महाराज ने राज्य के थानेदारों की बैठक बुलाई और कानून व्यवस्था को लेकर समीक्षा की। इस दौरान मनु महाराज ने थानेदारों से सवाल किया कि शराबबंदी के वक्त बरामद की गई शराब जो मालखाने में रखी गई थी वो आखिर कम कैसे हो रही है?

P18_2-2

एसएसपी के इतना पूछने के बाद ही अजीबो-गरीब जवाब सामने आया जिसे सुनकर मनु महाराज दंग रह गए। दरअसल, कुछ थानेदारों ने बताया कि करोड़ों की शराब मालखाने से इसलिए गायब हो गई, क्योंकि उस शराब को चूहों ने पी लिया है। मनु महाराज ने चूहों पर लगे इन आरोपों के बाद निर्देश जारी किया कि अब थानों में पदस्थापित सभी स्तर के पुलिसकर्मियों का ब्रेथ एनलाइजिंग टेस्ट कराया जाएगा।

ब्रेथ एनलाइजिंग टेस्ट किसी भी थाने में कभी भी किसी भी वक्त किया जा सकता है। यदि इस टेस्ट के बाद कोई भी पुलिस अधिकारी या कर्मी शराब पीने का दोषी पाया जाता है तो उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। मतलब की उसकी नौकरी तो जाएगी ही इसके अलावा बिहार में लागू नए मद्य निषेध कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी।

Manu-maharaj1_1467227378

एक शीर्ष अधिकारी ने बताया कि एसएसपी ने अपने थाने के मालखाने में चूहों से शराब की बोतले बचाने के लिए चूहे मारने की दवा का छिड़काव शुरू कर दिया है। गौरतलब है कि साल 2016 में बिहार में पूर्ण शराबबंदी लागू है। जिसके बाद से बिहार पुलिस ने राज्य के विभिन्न हिस्सों से 9 लाख लीटर शराब बरामद की थी। जिसे मालखाने में रखा गया ताकि कोर्ट के आदेश के बाद उसे नष्ट किया जा सके। अब पुलिस का कहना है कि शराब चूहे पी गए।


कमेंट करें