विज्ञान/टेक्नोलॉजी

18 साल के रिफत ने बनाया दुनिया का सबसे हल्का सैटेलाइट, नासा ने किया लॉन्च

राहुल राजहंस, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
136
| जून 23 , 2017 , 16:18 IST | नई दिल्ली

भारत ने अंतरिक्ष विज्ञान जगत में एक बार फिर नया कीर्तिमान स्थापित किया है। दरअसल तमिलनाडु के 18 साल के रिफत शारूक ने दुनिया का सबसे छोटा सैटेलाइट बनाकर अंतरिक्ष विज्ञान की दुनिया में एक नया कीर्तिमान बना था। लेकिन रिफत के सपनों को साकार किया अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा ने। रिफत द्वारा बनाए गए सैटेलाइट को नासा ने लॉन्च कर दिया है। इस सैटेलाइट को बनाने में रिफत शारूक और उसकी पूरी टीम ने जी तोड़ मेहनत की थी। दुनियाभर के वैज्ञानिक आश्चर्यचकित हैं कि इस सैटेलाइट का वजन महज 64 ग्राम कैसे है। सिर्फ इतना ही नहीं लोगों ने दांतो तले उंगलियां तब दबा ली जब उन्हें पता चला कि ये सैटेलाइट किसी पेशेवर वैज्ञानिक ने नहीं बल्कि मजह 18 साल के एक बच्चे रिफत शारूक और उनकी टीम ने बनाया है।

कलाम सेट नाम के इस अनोखी सैटेलाइट को अपने हाथ में लिया जा सकता है। यह 3-डी प्रिंटेड है और इसके अंदर एक गाइगर-मुलर काउंटर भी लगा है जो स्पेस में रेडिएशन का स्तर नापेगा। इस मिशन में सैटेलाइट के रूप में लॉन्च हुआ यह अकेला क्यूब है। रिफत ने बताया कि लॉन्च के 10-12 मिनट बाद पैराशूट की मदद से कलामसैट नीचे आ गया। उन्होंने कहा, 'हम सभी इस मिशन की सफलता से बहुत खुश हैं।'

तमिलनाडु के करूर जिले के पल्लापट्टी में रहने वाले 18 साल के रिफत शारूक की टीम में विनय भारद्वाज, तनिष्क द्विवेदी, यग्नासाई, अब्दुल कासिफ और गोबी नाथ शामिल हैं। कलामसैट नाम भारत के पूर्व राष्ट्रपति और वैज्ञानिक डॉ एपीजे अब्दुल कलाम के नाम पर लिखा गया है। स्पेस किड्ज इंडिया के संस्थापक और सीईओ डॉक्टर श्रीमती केसन के देखरेख में कलामसैट को तैयार किया गया है।


कमेंट करें