नेशनल

'ब्लू व्हेल चैलेंज' के खिलाफ केंद्र को नोटिस, गेम को कम्प्लीट बैन करने की मांग

ललिता सेन, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
107
| सितंबर 15 , 2017 , 16:41 IST | नई दिल्ली

सुप्रीम कोर्ट ने ऑनलाइन गेम-ब्ल्यू व्हेल पर बैन लगाने की मांग वाली याचिका पर शुक्रवार को सुनवाई करते हुए केंद्र सरकार को नोटिस जारी किया है। कोर्ट ने तीन हफ्ते में इस मामले पर केंद्र सहित तमाम राज्य सरकारों से विस्तृत जवाब मांगा है। प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति ए.एम. खानविलकर और न्यायमूर्ति डी.वाई. चंद्रचूड़ ने इस मामले की सुनवाई कर रहे हैं। व्हेल चैलेंज पर बैन लगाने की याचिका एक वकील एन एस पोन्नैया ने दाखिल की है।

याचिकाकर्ता ने मांग की है कि ब्ल्यू व्हेल गेम के घातक परिणामों के बारे में जागरुकता फैलानी चाहिए।

बता दें कि रिपोर्ट्स के अनुसार इस ऑनलाइन गेम के कारण 200 से ज्यादा लोग खुदकुशी कर चुके हैं।

गुजरात सरकार ने तो इस जानलेवा ब्लू व्हेल चैलेंज के लिंक की जानकारी देने वालों को एक लाख रुपये तक देने की घोषणा कर रखी है। वहीं, महाराष्ट्र पुलिस ने भी किशोरों को इस संबंध में जागरूक करने की बात कही है।

Supreme-court

गुजरात सरकार ने तो ब्लू व्हेल चैलेंज के लिंक की जानकारी देने वालों को एक लाख रुपये तक देने की घोषणा कर रखी है। वहीं, महाराष्ट्र पुलिस ने भी किशोरों को इस संबंध में जागरूक करने की बात कही है।

गौरतलब है कि, ऑनलाइन गेम ब्लू व्हेल में हर दिन टास्क दिए जाते हैं। इस गेम में पूरे 50 दिन अलग-अलग तरह के खतरनाक टास्क होते हैं और आखिरी टास्क के तौर पर यह खेल सुसाइड करने के लिए कहता है। इस गेम के रूस से एक मनोविज्ञान के एक छात्र फिलिप बुडेकिन ने बनाया था।


कमेंट करें