नेशनल

गो रक्षकों की मनमानी पर सुप्रीम कोर्ट सख्त, 7 राज्यों को नोटिस भेज मांगा जवाब

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
90
| अप्रैल 7 , 2017 , 14:30 IST | नयी दिल्ली

सर्वोच्च न्यायालय ने हिंसा में लिप्त स्वयंभू गो संरक्षक समूहों को नियंत्रित करने का अनुरोध करने वाली याचिका पर सुनवाई करते हुए शुक्रवार को इस संदर्भ में सात राज्यों से जवाब मांग। इस तरह के गो संरक्षक समूह बीफ व्यापार में शामिल होने के संदेहभर से ही लोगों पर हमले कर रहे हैं।

सॉलिसीटर जनरल रणजीत कुमार ने पीठ को बताया कि इस मामले में अभी तक राज्यों को कोई औपचारिक नोटिस जारी नहीं किया गया है। इसके बाद न्यायमूर्ति दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ ने राज्यों को नोटिस जारी किए।

Supreme-court1

अदालत ने इससे पहले केंद्र सरकार से इस याचिका पर जवाब मांगते हुए नोटिस जारी किया था। जिन सात राज्यों को नोटिस जारी किए गए हैं उनमें उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक और झारखंड हैं।

नोटिस तहसीन एस.पूनावाला की याचिका पर कार्यवाही करते हुए जारी किए गए हैं। इस मामले की अगली सुनवाई अब तीन मई के बाद होगी। इस याचिका में पूनावाला ने गोहत्या और उससे जुड़ी हिंसा के 10 मामलों का जिक्र किया था। इसमें पूनावाला ने राजस्थान के अलवर में 55 साल के एक आदमी की हत्या का भी हवाला दिया था।

Dc-Cover-befevn778s1mbu2tqu0qh0j9l7-20170405110208.Medi

पूनावाला ने अपनी याचिका में गोरक्षकों पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है। उन्होंने कहा है कि केंद्र सरकार इन्हें नियंत्रित करने में अप्रभावी साबित हो रही है। पूनावाला ने कहा है कि बीजेपी शासित राज्यों में गोरक्षकों को प्रोत्साहित किया जा रहा है।


कमेंट करें