नेशनल

सुषमा को उम्मीद- इराक की जेलों में बंद हैं 39 भारतीय! जल्द होगी वतन वापसी

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
91
| जुलाई 16 , 2017 , 16:31 IST | नई दिल्ली

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज रविवार को नई दिल्ली में इराक में 2014 से लापता हुए 39 भारतीयों के परिजनों से मुलाकात की, इस दौरान विदेश राज्य मंत्री एम जे अकबर और जनरल वीके सिंह भी मौजूद थे। आपको बता दें कि इराक का मोसुल शहर कुख्यात आतंकी संगठन आइएसआइएस के चुंगल से आजाद हो चुका है और इसके साथ ही भारत सरकार ने भी तीन वर्ष पहले वहां अगवा किए गए 39 भारतीयों का पता लगाने का काम तेज कर दिया है। अगवा किए गए 39 भारतीयों में 9 युवक पंजाब के भी हैं।


सुषमा ने इन परिवारों को भरोसा दिलाया कि ईराक में लापता 39 भारतीयों की जल्द तलाश शुरू की जाएगी। उन्होंने आशंका जताई कि गुमशुदा भारतीय नागरिक शायद ईराक की एक जेल में बंद हैं। सूत्रों ने मोसुल के पास स्थित बादुश गांव की जेल में इन भारतीयों के बंद होने की आशंका जताई है।

बादुश मोसुल के उत्तरपश्चिमी हिस्से में स्थित एक गांव है। चूंकि अभी यहां पर लड़ाई जारी है, ऐसे में जंग के खत्म होने पर ही उनकी तलाश शुरू की जा सकेगी। माना जा रहा है कि इन सभी भारतीयों को 2014 से मोसुल में बंधक बनाकर रखा गया है।

ये सभी लोग 2014 से ही इराक में लापता हैं। सुषमा ने आश्वासन दिया है कि भारत सरकार इन सभी को सुरक्षित वापस लाने की हरसंभव कोशिश कर रही है।

 


कमेंट करें