नेशनल

संसद में बोलीं सुषमा- 39 भारतीयों की मौत का सबूत नहीं, मोसुल का चप्पा-चप्पा छान मारेंगे

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
170
| जुलाई 26 , 2017 , 14:33 IST | नई दिल्ली

इराक में लापता 39 भारतीयों के मुद्दे पर आज लोकसभा में जमकर हंगामा हुआ। लोकसभा में बोलते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि ये मामला बहुत गंभीर है। उन्होंने कहा कि इराक में 39 भारतीय फंसे हैं। हमारी सरकार बनने के 20 दिन बाद ये घटना हुई। मैंने दूतावास से कहा है कि मोसुल का चप्पा-चप्पा छान मारो।

विदेश मंत्री ने विपक्ष के आरोपों को और उन खबरों को खारिज किया है, जिसमें कहा गया था कि इराक में लापता भारतीय जीवित नहीं हैं। सुषमा स्वराज ने सदन को बताया कि इसके कोई साक्ष्य नहीं हैं कि इराक के मोसुल में गायब 31 भारतीयों की मौत हो गई है। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि उनके वहां मौजूद होने के भी सबूत नहीं मिले हैं।

सुषमा स्वराज ने कहा, 'मैंने कभी लोगों को गुमराह नहीं किया, इससे मेरा क्या फायदा होगा। मेरी आस्था लोकतंत्र और ससंद में है। इराक़ के विदेश मंत्री भी यही बात कह रहे हैं की वे नही जानते कि वे जिन्दा है या मर गए। बिना किसी सबूत के किसी को मारा हुआ कहना पाप है, और मैं इस पाप की भागीदार नहीं बनूंगी। मेरा मानना है कि जल्द ही इस रहस्य से पर्दा उठेगा'

उन्होंने कहा, 'मैं 12 बार पीड़ितों के परिवार से मिली हूं, मैंने हर बार कहा कि मेरे पास उनके जीवित रहने की कोई जानकारी नहीं है, मैं सूत्रों के हवाले से ये कह रही हूं, लेकिन मेरे सूत्र कोई ऐसे वैसे नहीं हैं हमें एक देश के राष्ट्रपति, एक देश के विदेश मंत्री ने ये बताया है। उनकी फाइल तब तक बंद नहीं कर सकते हैं जब तक कोई सबूत ना हो।'


कमेंट करें