खेल

Eye Catchers : जाने कौन है IPL 2018 की ये खूबसूरत होस्ट ?

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1373
| जनवरी 27 , 2018 , 18:55 IST

आईपीएल 2018 को होस्ट कर रहीं मयंती लेंगर बेहद खूबसूरत तो हैं ही लेकिन बहुत कम लोग ये जानते हैं कि वो एक कामयाब एथलीट भी रही हैं। बता दें आईपीएल के दौरान फैन्स के बीच मयंती काफी पॉपुलर रहती हैं। अपनी अदाओं और बेहतरीन शो स्किल्स से वो सबका ध्यान खींचती हैं। 

मयंती लेंगर की पर्सनल लाइफ 

जब मयंती लेंगर 9 साल की थीं, तब उनके पिता लेफ्टिनेंट जनरल संजीव लेंगर की स्पेशल पोस्टिंग यूनाइटेड नेशन्स के हेडक्वार्टर्स में हुई थी। जिसके कारण मयंती की स्कूलिंग न्यूयॉर्क में हुई।

Mayanti-langer1

मयंती न्यूयॉर्क के लोकल पार्क में साथ के बच्चों के साथ फुटबॉल खेलती थीं। उन्होंने शुरुआत डिफेंडर के तौर पर की थी।जल्दी ही वो टीम की बेस्ट मिड-फील्डर बनकर उभरीं। यूनाइटेड नेशन्स से दिल्ली लौटने के बाद उन्होंने लोकल फुटबॉल अकेडमी ज्वाइन की, जो कि उनके स्कूल श्रीराम स्कूल की प्रिंसिपल के हसबैंड मिस्टर एडम्स का था।

दिल्ली के हिंदू कॉलेज से ग्रैजुएशन के दौरान उन्होंने खुद को फुटबॉल से कनेक्टेड रखने के लिए स्पोर्ट्स एंकरिंग शुरू की थी। इनकी मां प्रेमिंदा लेंगर टीचर हैं। मयंती लेंगर क्रिकेटर स्टुअर्ट बिन्नी की वाइफ भी हैं। दोनों की मुलाकात आईपीएल इंटरव्यूज के दौरान ही हुई थी।

Mayanti-Langer

मैच खत्म होने के बाद होने वाले इंटरव्यूज के दौरान ही बिन्नी मयंती पर फिदा हुए थे। एक साल की डेटिंग के बाद दोनों ने सितंबर 2012 में शादी की थी। मयंती लेंगर की मां प्रेमिंदा लेंगर न्यूयॉर्क के प्रतिष्ठित बैंक स्ट्रीट कॉलेज ऑफ एजुकेशन की एल्युमिनी हैं।

24636477012_84ca26bd6d_z

फिलहाल मयंती यूनिवर्सल लर्न टुडे में एजुकेशनल डेवलपमेंट स्पेशलिस्ट के तौर पर जुड़ी हुई हैं। साल 2008 में ये गोल्डन कतर आर्मी वाइव्स वेलफेयर एसोसिएशन की प्रेसिडेंट रहीं। जानकारी के लिए बता दें यह बात कम लोग ही जानते हैं कि मयंती लेंगर की मां प्रेमिंदा लेंगर भी आर्मी बैकग्राउंड से हैं।

15535145_1265057183532411_3847327829972746240_n

उनके पिता और मयंती के नाना राजिंदर नाथ बत्रा आर्मी में लेफ्टिनेंट जनरल थे। लेफ्टिनेंट जनरल राजिंदर बत्रा को इंडियन आर्मी के फाउंडर्स में शुमार रहे हैं। उन्हें आर्मी फ्रेटरनिटी में इंडियन सिग्नल कॉर्प्स के फाउंडर्स के रूप में जाना जाता है। इनके पिता बंटवारे से पहले पंजाब सिविल सर्विस में इर्रिगेशन इंजीनियर थे।

78-myntri_3

बंटवारे के बाद ये लाहौर से दिल्ली में आकर सेटल हुए थे।इनकी स्कूलिंग दिल्ली के मॉडर्न स्कूल और शिमला के बिशप कॉटन स्कूल से हुई। आर्मी अफसर होने के साथ ही वे एक बेहतरीन बॉक्सर भी थे।


कमेंट करें