ख़ास रिपोर्ट

तमिलनाडु CM का कार्टून बनाने वाले कार्टूनिस्ट बाला को मिली जमानत

श्वेता बाजपेई, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
79
| नवंबर 6 , 2017 , 14:49 IST | नई दिल्ली:

तिरुनवेली ज़िला अदालत ने रविवार को गिरफ्तार किए गए कार्टूनिस्ट बाला को जमानत दे दी है। कार्टूनिस्ट बाला को रविवार को पुलिस ने तमिलनाडु के मुख्यमंत्री पलानीसामी और पुलिस कमीश्नर के अश्लील कार्टून बनाने पर गिरफ्तार किया था।

यह गिरफ्तारी पुलिस ने चेन्नई से की थी। पुलिस ने बताया था कि कार्टूनिस्ट बाला को तिरुनवेली के जिलाधिकारी संदीप नंदुरी की शिकायत पर गिरफ्तार किया गया है। 

जिलाधिकारी संदीप नंदुरी की तस्वीर भी मुख्यंमंत्री और सिटी पुलिस के प्रमुख के साथ कार्टून में बनी हुई थी।

जमानत पर बाहर आए बाला का कहना है कि उन्होंने कोई मर्डर नहीं किया है और उन्हें गलती नहीं की है कि उसके लिए अफसोस किया जाए। बाला ने कहा कि वे आगे भी कार्टून बनाना जारी रखेंगे। 

 

जी बाला की गिरफ़्तारी के बाद कार्टूनिस्ट मंजुल ने भी अपने ट्विटर हैंडल से एक तस्वीर शेयर की जिसमे पलानीसामी कह रहे है कि हमें अम्मा द्वारा दिखाए गए मार्ग पर चलना चाहिए वहीं दूसरी तस्वीर में कार्टूनिस्ट को गिरफ्तार करने की मांग कर रहे हैं। 

क्या था विवाद -

बता दें कि बाला को अपने कार्टून के विरोध में राज्य के मुख्यमंत्री पनालीसामी और पुलिस कमिश्नर का विरोध जताए जाने पर गिरफ्तार किया गया था। बाला ने यह कार्टून उस घटना के संदर्भ में बनाया था जिसमें साहूकार और बढ़ते कर्ज से परेशान तिरुनवेली के जिलाधिकारी परिसर में एक परिवार ने आगलगा कर आत्मदाह कर लिया था। यह कार्टून 26 अक्टूबर को वेबसाईट पर अपलोड किया गया था।

23 अक्टूबर को एक मजदूर पी इसाकिमुथु अपनी पत्नी और दो बच्चों के साथ जिलाधिकारी दफ्तर के आगे आत्मदाह कर लिया था। इस व्यक्ति के पास साहूकार का 1.45 लाख रुपये का कर्ज था, जिसे वो 2 लाख रुपये से भी ज्यादा ब्याज चुका-चुकाकर परेशान हो चुका था।

यह मजदूर इसाकिमुथु कर्ज से छुटकारा पाने के लिए जिलाधिकारी के दफ्तर में कई बार गुहार भी लगा चुका था। कोई कार्रवाई न होते देख परेशान होकर मजदूर ने यह दर्दनाक कदम उठाया था।

इस घटना के बाद 26 अक्तूबर को इस कार्टून को छापा गया था। घटना में महिला और दो बच्चों की उसी दिन 23 अक्तूबर को मौत हो गई थी जबकि आदमी ने बाद में दम तोड़ा।

इस घटना के बाद पुलिस साहूकार और उसकी पत्नी समेत 3 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। अपने कार्टून में जी बाला ने मुख्यमंत्री, जिलाधिकारी और पुलिस कमिश्नर को आत्मदाह के लिए जिम्मेदार दिखाया था।

बाला के खिलाफ संबंधित धाराओं में 1 नवंबर को केस दर्ज किया गया था। कार्टून में सीएमा और जिला कलेक्टर के साथ शहर के पुलिस प्रमुख को भी दिखाया गया है।

क्या था कार्टून में-

कार्टून में एक बच्चा जल रहा है और उसके चारों तरफ मुख्यमंत्री, पुलिस कमिश्नर और कलेक्टर नग्न खड़े हैं और नोटों के बंडलों को उन्होंने अपने अंडरवीयर के स्थान पर इस्तेमाल किया है।

इस कार्टून को उन्होंने अपने सोशल मीडिया पेज शेयर किया था और यह तेजी से वायरल हो गया। बता दें कि जी. बाला एक स्वतंत्र और लोकप्रिय कार्टुनिस्ट हैं। वे राजनीति पर कार्टून बनाते हैं। सोशल मीडिया पर उनके लाखों प्रशंसक हैं।

इस कार्टून के वायरल होने के बाद तिरुनेलवेली के जिलाधिकारी ने क्राइम ब्रांच में इस बारे में एक शिकायत दर्ज कराई थी, जिसके बाद कार्टूनिस्ट को गिरफ्तार कर लिया गया। उनकी गिरफ्तारी के खिलाफ सोशल मीडिया पर एक विशेष अभियान भी शुरू हो गया है। उनके पक्ष में #standwithCartoonistBala (स्टैंड विद कार्टूनिस्ट बाला) के साथ लगातार लोग जुड़ रहे हैं।


कमेंट करें