नेशनल

तवांग हेलिकॉप्टर क्रैश में शहीद जवानों के शव पॉलीथिन में रखे, सेना बोली- भूल हुई

सतीश वर्मा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
62
| अक्टूबर 9 , 2017 , 12:04 IST | नई दिल्ली

एक पूर्व आर्मी अफसर और क्रिकेटर गौतम गंभीर ने अरुणाचल प्रदेश के तवांग में हेलिकॉप्टर क्रैश में शहीद जवानों के शवों की तस्वीर ट्वीट की। ये बॉडीज पॉलीथिन और कार्डबोर्ड में रखी गई थीं। सोशल मीडिया में शहीद जवानों के साथ ये सलूक किए जाने का विरोध किया गया। इसके बाद सेना ने कहा कि ये भूल थी। एक आर्मी अफसर के मुताबिक, ये तस्वीरें तब ली गईं, जब शहीदों के शव गुवाहाटी में थे।
आर्मी के एडिशनल डायरेक्ट्रेट जनरल ऑफ पब्लिक इन्फर्मेशन (ADGPI) ने कहा, "लोकल रिसोर्सेस के सहारे शहीदों की बॉडी को लपेटा जाना भूल है। शहीदों को हमेशा ही सेना ने पूरा सैन्य सम्मान दिया है।

कैसे सामने आईं ये तस्वीरें

पूर्व नॉर्दन आर्मी कमांडर रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल एचएस पनाग ने तस्वीर ट्वीट की। उन्होंने कहा, "अपनी मातृभूमि भारत की सेवा के लिए 7 युवा कल दमकते हुए निकले थे। ये देखिए वे किस तरह घर लौटे हैं। उन्होंने कहा, "हर हाल में शहीदों की बॉडी को प्रॉपर मिलिट्री बॉडी बैग्स लाना चाहिए, जब तक सेरेमोनियल कॉफिन्स ना मिल जाएं।'
गौतम गंभीर ने भी इस तस्वीर को पोस्ट कर शहीदों के साथ किए गए ऐसे सलूक पर नाराजगी जाहिर की। गंभीर ने लिखा, "IAF क्रैश के शहीदों के शव... शर्मनाक! माफ करना ऐ दोस्त, जिस कपड़े से तुम्हारा कफन सिलना था, वो अभी किसी का बंद गला सिलने के काम आ रहा है!

आर्मी ने किस तरह मानी अपनी भूल

ADGPI ने ट्वीट किया, "शहीदों को हमेशा मिलिट्री सम्मान दिया गया है। शहीदों की बॉडी को बॉडी बैग्स, वुडेन बॉक्स और कॉफिन में ले जाना सुनिश्चित किया जाएगा।


एचएस पनाग ने एक ट्वीट में डिफेंस मिनिस्ट्री का एक लेटर शेयर किया है, जिसमें कहा गया, "पोस्टमार्टम के तुरंत बाद सभी शहीदों के शवों को पूरे सैन्य सम्मान के साथ वुडेन कॉफिन्स में रखा गया। पूरा मिलिट्री सम्मान के साथ श्रद्धांजलि देने के बाद शवों को उनके परिजनों के पास भेजा गया।'

कब क्रैश हुआ था हेलिकॉप्टर

एयरफोर्स का हेलिकॉप्टर Mi-17 V5 शुक्रवार (6 अक्टूबर) को अरुणाचल प्रदेश के तवांग के पास खिरमू इलाके में क्रैश हो गया। इसमें 7 लोग सवार थे, सभी की मौत हो गई। इनमें 5 एयरफोर्स क्रू मेंबर्स और 2 आर्मी पर्सनल शामिल थे।


कमेंट करें

अभी अभी