खेल

शास्त्री का विवादित बयान, जो बड़े नामों वाली टीम ना कर सकी वो कोहली ने कर दिखाया

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
201
| अगस्त 2 , 2017 , 13:39 IST | कोलंबो

टीम इंडिया के मुख्य कोच रवि शास्त्री का मानना है कि विराट कोहली की कप्तानी वाली मौजूदा टीम ने अतीत की उन कई टीमों से अधिक उपलब्धियां हासिल की हैं जिनमें बड़े-बड़े नाम शामिल थे। रवि शास्त्री ने कोलंबो में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा,

मौजूदा भारतीय टीम अब काफी अनुभवी हो चुकी है। इसने बहुत कुछ ऐसा कर लिया है जो पूर्व की भारतीय टीमें और कई बड़े नाम अपने करियर में नहीं कर सके। जैसे, श्रीलंका में (2015) सीरीज जीतना। कोहली की अगुआई में 2015 में जब भारत ने टेस्ट सीरीज जीती थी तो वह श्रीलंका में 22 साल बाद किसी भारतीय टीम की टेस्ट सीरीज जीत थी। उससे पहले 1993 में मुहम्मद अजहरुद्दीन की भारतीय टीम ने वहां टेस्ट सीरीज जीती थी।

Ravi-shastri-team-india-director

रवि शास्त्री ने कहा,

भारत के कई बड़े खिलाड़ी यहां 20 साल से खेलते आ रहे हैं और कई बार श्रीलंका आए होंगे, लेकिन कभी यहां सीरीज नहीं जीत सके। इस टीम ने वह कर दिखाया है। इस टीम ने ऐसा बहुत कुछ किया है जो पहले कई भारतीय टीमें नहीं कर सकीं और वह भी विदेश में।

Ravi

शास्त्री का यह बयान विवादित है क्योंकि राहुल द्रविड़ की अगुआई में भारतीय टीम ने इंग्लैंड को उसी के यहां 2007 में 1-0 से शिकस्त दी थी। इससे पहले सौरव गांगुली की टीम ने 2004 में ऑस्ट्रेलिया से उसके यहां 1-1 से ड्रॉ खेला था, जबकि नासिर हुसैन की इंग्लिश टीम से 2002 में इंग्लैंड में ही 1-1 से ड्रॉ खेला था। महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली टीम ने न्यूजीलैंड को 2009 में उसी के घर में 1-0 से हराया था, जबकि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ उसके यहां 2011 की सीरीज 1-1 से ड्रॉ रही थी।

शास्त्री ने कहा कि यह उनके लिए नई शुरुआत है और वह पिछली बातों को लेकर नहीं आये हैं। उन्होंने कहा, 'मैं बीती बातों को साथ लेकर नहीं आया हूं। मेरे लिए ड्रेसिंग रूम में आना वैसा ही था जैसा मैं छोड़कर गया था। कुछ भी नहीं बदला है और मुझे कोई खास बटन नहीं दबाना पड़ा।'

16050

शास्त्री ने बतौर कप्तान कोहली के बढ़ते कद की तारीफ करते हुए कहा, 'वह अभी युवा हैं, लेकिन मुझे बतौर कप्तान उनके पहले टेस्ट से अब तक काफी फर्क नजर आ रहा है। जब उन्होंने एडीलेड में पहले टेस्ट में कप्तानी की थी तब मैं वहां था और अब तक वह 27 टेस्ट में कप्तानी कर चुके हैं। फर्क आप देख सकते हैं। वह परिपक्व हो गए हैं और आगे भी सीखते रहेंगे। इस उम्र में वह काफी कुछ कर चुके हैं और उन्हें आगे भी बहुत कुछ हासिल करना है।

आपको बता दें कि कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम अगले साल दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया का दौरा करेगी।


कमेंट करें