नेशनल

अच्छी ख़बर: अब बच्चों के बस्ते का वजन होगा सिर्फ 1.5 किलो!

श्वेता बाजपेई, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
115
| जुलाई 20 , 2017 , 15:00 IST | हैदराबाद

बस्तों का भारी-भरकम बोझा उठाये हांफते और पस्त दिखते बच्चों की तस्वीरें अब बीते दिनों की बात हो जाएगी क्योंकि तेलंगाना सरकार बच्चों के बस्तों के वजन की सीमा 1.5 किलोग्राम से पांच किलोग्राम के बीच तय कर रही है। इतना ही नहीं उसने स्कूलों को प्राथमिक कक्षाओं यानी पहली से पांचवी कक्षा में पढ़ने वाले बच्चों को होमवर्क देने पर भी रोक लगा दी है।

बच्चों के भारी बस्ते की समस्या से निपटने के लिए सरकार ने विद्यालय प्रबंधन के लिए एक आदेश जारी किया है। यह आदेश कक्षा 1 से कक्षा 10 तक के छात्रों का बोझ काफी हद तक कम कर देगा। इससे भारी बस्तों की वजह से होने वाले 'विपरीत शारीरिक प्रभावों और चिंता विकारों' से उन्हें बचाया जा सकेगा। सरकार की तरफ से जारी किए गए आदेश के मुताबिक नोटबुक और किताबों समेत कक्षा एक और दो के लिए बस्ते का वजन 1.5 किलो से ज्यादा नहीं हो सकता है। कक्षा तीन से पांच के लिए वजन 2 से 3 किलो के बीच हो सकता है।

आदेश के मुताबिक कक्षा दस तक के लिये बस्तों का अधिकतम वजन पांच किलो से ज्यादा नहीं होना चाहिये। कक्षा छह से सात के लिए बस्ते का अधिकतम वजन चार किलो और कक्षा आठवीं से 9वीं के लिए साढ़े चार किलो तय किया गया है। 

अनुमानों के मुताबिक स्कूली छात्र अभी प्राथमिक स्तर पर बच्चों के बस्तों का वजन 6 किलो से 12 किलो के बीच होता है। वहीं, हाईस्कूल स्तर पर इनका वजन 17 किलो तक हो जाता है।


कमेंट करें