अभी-अभी

अमरनाथ यात्रा को लेकर इस बार आतंकियों ने बदली रणनीति, बनाया ये नया प्लान

अमितेष युवराज सिंह, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
157
| जून 26 , 2017 , 15:16 IST | श्रीनगर

आतंकवादी अमरनाथ यात्रा को लेकर बड़ी साजिश रच रहे हैं। इंजेलिजेंस को खबर मिली है कि आतंकवादी अमरनाथ यात्रियों को निशाना बनाने की फिराक में हैं। उनका मकसद बड़ी संख्या में अमरनाथ यात्रियों को हताहत कर देशभर में सांप्रदायिक दंगे कराने का है।

कश्मीर जोन के पुलिस महानिरीक्षक ने एक बेहद गोपनीय चिट्ठी में इस बात की जानकारी देकर महकमे को अलर्ट किया है। इस चिट्ठी में कहा गया है कि आतंकवादियों ने अमरनाथ यात्रा में विघ्न पैदा करने की अपनी रणनीति बदली है। उनकी योजना है कि यात्रा के दौरान इस तरह हमला किया जाए कि 100-150 यात्री हताहत हों।

Amarnath-helicopter

आतंकवादियों की ये भी योजना है कि लोगों के अलावा पुलिस के जवानों-अफसरों को भी बड़े पैमाने पर निशाना बनाया जाए। ऐसे हमले से देशभर में सांप्रदायिक दंगे शुरू हो जाएंगे और उनका काम आसान हो जाएगा और देशविरोधी तत्वों को फायदा होगा।

ये चिट्ठी आईजी सीआरपीएफ, ऑपरेशन कश्मीर, आईजी एडमिन, सीआरपीएफ, श्रीनगर, हेडक्वार्टर 15 कोर, बीबी, श्रीनगर, सभी रेंज के डीआईजी को भेजी गई है। पत्र में अलर्ट किया गया है कि जो अधिकारी यात्रा की ड्यूटी पर तैनात हैं वे सतर्क रहें और ऐसे तत्वों के मंसूबों को सफल न होने दें।

Amarnath-helicopter-yatra-baltal-2014

सुरक्षा चाक-चौबंद

शांतिपूर्ण अमरनाथ यात्रा सुनिश्चित करने के लिए दक्षिण कश्मीर के हिमालय में पहलगाम तथा बालटाल के दो मार्गो पर 24 बचाव दल और 35 श्वान दस्ते तैनात किए जाएंगे। 3,880 मीटर की ऊंचाई पर स्थित अमरनाथ की पवित्र गुफा तक 40 दिन की अमरनाथ यात्रा के दौरान कुल 24 बचाव दलों को तैनात किया जाएगा।

जम्मू-कश्मीर में 29 जून से इस यात्रा की शुरुआत होगी। यह यात्रा अनंतनाग जिले के परंपरागत 28.2 किमी लंबे पहलगाम मार्ग और गांदेरबल जिले के 9.5 किमी लंबे बालटाल मार्ग से जाएगी और सात अगस्त को रक्षा बंधन के दिन इसका समापन होगा। यह यात्रा 40 दिन चलेगी।

Amarnath-yatra-view

हेल्थ सर्टिफिकेट जरूरी

बालटाल और चंदनबाड़ी मार्ग से यात्रा करने के लिए अभी तक 2.40 लाख श्रद्धालु पंजीकरण करवा चुके हैं। यात्रा करने के लिए पहले की तरह ही श्रद्धालु के लिए स्वास्थ्य प्रमाण-पत्र लेना जरूरी है। प्रमाण-पत्र केवल विभिन्न राज्य सरकारों द्वारा नियुक्त किए गए डॉक्टरों से ही मान्य होगा। यात्रा से संबंधित सभी जानकारी वेबसाइट पर उपलब्ध है।


कमेंट करें