खेल

धोनी के उस शानदार छक्के से भारत ने 28 साल बाद जीता था वर्ल्ड कप (वीडियो)

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1001
| अप्रैल 2 , 2018 , 19:40 IST

विश्व कप का खिताब जीतना एक बहुत बड़ा सम्मान है। कपिल देव की कप्तानी में 1983 के विश्व कप के बाद भारत को ठीक 28 साल बाद इस सम्मान को हासिल करने का जश्न मनाने का मौका मिला। साल 2011, दिन 2 अप्रैल...ठीक 7 साल पहले मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेले जा रहे मैच में धोनी के बल्ले से निकला छक्का और भारत बना गया विश्व विजेता। ये वहीं दिन हैं जब भारत ने दूसरी बार विश्व विजेता बनाने का गौरव प्राप्त किया और धोनी के रणबांकुरों ने इतिहास रच डाला।

आज का दिन भारत के लिए किसी त्योहार से कम नहीं था। 2011 क्रिकेट वर्ल्ड कप का फाइनल...दोनों मेजबानों श्रीलंका और भारत के बीच वानखेड़े स्टेडियम, मुंबई में 2 अप्रैल 2011 को खेला गया।

ये क्रिकेट के इतिहास में पहली बार हो रहा था कि उप-महाद्वीप की दो टीमें फाइनल में थीं। भारत और श्रीलंका न सिर्फ कागज पर बल्कि मैदान पर भी श्रेष्ठ टीमें थी।

India vs srilanka images (27)

धोनी ने बनाया था ये खास रिकॉर्ड

एमएस धोनी ने जो छक्का जड़ा उसी के साथ उन्होंने एक अनोखा रिकॉर्ड भी बनाया था। ऐसा कभी नहीं हुआ था कि किसी ने आखिरी बॉल पर छक्का जड़कर वर्ल्ड कप फाइनल जिताया हो। ऐसा करके धोनी एकमात्र ऐसे खिलाड़ी बन गए। अब तक उनका रिकॉर्ड कोई नहीं तोड़ पाया है

सचिन तेंदुलकर

भारतीय टीम के पूर्व बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर भी अब क्रिकेट से संयास ले चुके हैं। सचिन साल 2011 में आयोजित हुए वर्ल्ड कप सीरीज में दूसरे सर्वाधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी रहे। उन्होंने पूरी सीरीज में 482 रन बनाया था। वे भले ही फाइनल में अपना खास कमाल नहीं दिखा पाए, लेकिन सीरीज के दो मैचों में उन्होंने जबरदस्त शतकीय पारी खेली थी। 2011 का वर्ल्ड कप जीतना उनके लिए किसी सपने से काम नहीं था।

ये कौन भूल सकता है

इससे पहले भारत ने 1983 में वर्ल्डकप पर कब्जा किया था। 28 साल बाद भारत के विकेटकीपर महेंद्र सिंह धौनी के नेतृत्व में भारत ने श्रीलंका को 6 विकेट से हराकर दूसरी बार वर्ल्ड कप पर कब्जा किया था। भारत को मैच जीतने के लिए 11 गेंदों पर 4 रन की जरूरत थी। उस समय क्रीज पर मौजूद थे धौनी और उन्होंने सीधा छक्का जड़ भारत को जीत दिला दी। उनका ये छक्का इतना दमदार था कि आज तक लोगों के दिमाग में बसा हुआ है। धौनी के इस छक्के के बाद भारत ने 28 साल बाद फिर से इतिहास रच दिया था। पूरे देश में जश्न का माहौल था। चारों और दीवाली मनाई जा रही थी।


कमेंट करें