इंटरनेशनल

अमेरिका के इन तीन वैज्ञानिकों को मिला चिकित्सा का नोबेल पुरस्कार

श्वेता बाजपेई, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
173
| अक्टूबर 2 , 2017 , 17:33 IST 123

चिकित्सा के क्षेत्र में अमेरिका के तीन वैज्ञानिक जेफरी हॉल, माइक रोशबैश और माइकल यंग को नोबेल पुरस्कार से नवाजा गया है। इन तीनों वैज्ञानिकों को बायोलॉजिकल क्लॉक पर काम करने के लिए नोबेल पुरस्कार दिया गया है। सोमवार को इन तीनों वैज्ञानिकों को इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।

स्टॉकहोम में कैरोलिंस्का इंस्टीट्यूट स्थित नोबेल एसेंबली ने एक बयान जारी कर बताया, 'सर्कैडियन रीदम को कंट्रोल करने वाले आणविक तंत्र की उनकी खोजों के लिए इस तिकड़ी को नोबेल पुरस्कार से नवाजा गया है।'

जीव-जंतुओं सहित सभी जीवित प्राणियों के भीतर शारीरिक प्रक्रियाओं में चलने वाला 24 घंटे का चक्र होता है। यह आपके जगने-सोने के समय, हार्मोन के स्राव, शरीर के तापमान सहित विभिन्न शारीरिक प्रकियाओं को नियंत्रित करता है। नींद न आने जैसी समस्याएं भी इसी सर्केडियन रीदम से जुड़ी बताई जाती है। तीनों वैज्ञानिकों को पुरस्कार राशि 1.1 मिलियन डॉलर भी दी गई है। माइक रोशबैश ब्रेंडीश यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर हैं तो वहीं माइकल यंग रॉकफेलर यूनिवर्सिटी में और जेफरी हॉल यूनिवर्सिटी ऑफ मैने में प्रोफेसर हैं।

नोबेल समिति ने चिकित्सा के क्षेत्र के साथ ही पुरस्कारों की घोषणा शुरू कर दी है। आने वाले दिनों में अब भौतिकी, रसायनशास्त्र, शांति, साहित्य और अर्थशास्त्र में नोबेल पुरस्कार विजेताओं की घोषणा की जाएगी।

नोबेल प्राइज 10 दिसंबर को स्वीडन में दिए जाते हैं। 10 दिसंबर, 1896 को ही अल्फ्रेड नोबेल का निधन हुआ था। अल्फ्रेड नोबेल (1833-1896) स्वीडिश साइंटिस्ट थे। उनकी सबसे प्रमुख खोज डाइनामाइट थी। इससे उन्होंने काफी पैसे कमाए। नोबेल फ्रांस में रहते थे। एक बार वहां के लोकल अखबार में नोबेल की मौत की गलत खबर छपी। दरअसल, तब नोबेल के भाई की मौत हुई थी।


कमेंट करें