अभी-अभी

नयना पुजारी हत्याकांड में हो गया इंसाफ, रेप और हत्या के तीनों दोषियों को सज़ा-ए-मौत

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
388
| मई 9 , 2017 , 19:40 IST | पुणे

सॉफ्टवेयर इंजीनियर नयना पुजारी हत्याकांड में तीन दोषियों को मौत की सजा दी गई है। चौथा आरोपी सरकारी गवाह बन गया। सोमवार को कोर्ट ने अपहरण, बलात्कार और हत्या के जुर्म में तीन लोगों को दोषी करार दिया था। मंगलवार को उनकी सजा का ऐलान किया गया। विशेष जज एलएल. येनकर ने चार में से तीन आरोपियों को अपहरण, दुष्कर्म और हत्या का दोषी करार देते हुए फांसी की सज़ा सुनाई।

Nayna-pujari-1

पुलिस के अनुसार पुणे में एक आईटी कंपनी में काम करने वाली 29 वर्षीय नयना का 8 अक्टूबर 2009 को कैब चालक योगेश राऊत ने लिफ्ट देने के बहाने अपहरण किया था। योगेश ने तीन दोस्तों राजेश पांडुरंग चौधरी, महेश बालासाहेब ठाकुर और विश्वास हिंदुराव कदम के साथ मिलकर दुष्कर्म किया था। इसके बाद नयना की गला दबा कर हत्या कर दी थी। इसके बाद कातिल फरार हो गए।

111

नयना के पति अभिजीत के मुताबिक उस रात 9.30 बजे तक वह घर नहीं पहुंची। उन्होंने अपने स्तर पर काफी देर तक नयना को तलाशा इसके बाद यरवदा थाने में उसकी गुमशुदगी की शिकायत की। अगले दिन पुलिस को विमान नगर और कल्याणी नगर के एटीएम से पैसे निकाले जाने के बारे में जानकारी दी। उसी दिन एक महिला का शव मिला। शव की शिनाख्त नैना पुजारी के रूप में हुई।

नयना पुजारी हत्याकांड की सुनवाई पिछले सात वर्षों से चल रही थी। इस मामले की सुनवाई के दौरान सरकारी वकील ने करीब 37 गवाहों से जिरह के दौरान पूछताछ की।

Master


कमेंट करें