खेल

IPL 11: CSK और KKR के मुकाबले में झंडों और बैनरों पर पाबंदी

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
461
| अप्रैल 10 , 2018 , 17:42 IST

चेन्नई सुपर किंग्स ने इंडियन प्रीमियर लीग (आइपीएल) में जीत के साथ वापसी करते हुए अपने पहले मैच में मुंबई इंडियंस को रोचक मुकाबले में एक विकेट से मात दी थी। अब अगले मैच में उसके सामने कोलकाता नाइटराइडर्स की चुनौती है। कोलकाता ने नए कप्तान दिनेश कार्तिक के नेतृत्व में रविवार को अपने पहले मैच में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूर को मात दी थी। अब दोनों टीमें विजयी शुरुआत के बाद मंगलवार को चेपक स्टेडियम में आमने-सामने होंगी।

आंदोलन के बावजूद मैच के सभी टिकट बिके :

646-1473287244_835x547

करीब तीन साल के अंतराल के बाद यहां आयोजित हो रहे मैच की सभी टिकटें बिक चुकी हैं। आईपीएल के सात मैचों का आयोजन दस अप्रैल से 20 मई के बीच यहां होना है। चेन्नई और कोलकाता के बीच आज आयोजित हो रहे आईपीएल मैच की सुरक्षा में चार हजार पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं। कावेरी मुद्दे पर आंदोलन करने वाले एक तमिल संगठन ने स्टेडियम के बाहर प्रदर्शन करने की चेतावनी दी है।

झंडों और बैनरों पर पाबंदी :

प्रशासन ने स्टेडियम में झंडों और बैनरों पर पाबंदी लगा दी है और मैच की सुरक्षा के लिए कमांडो तथा रैपिड एक्शन फोर्स के जवानों को तैनात किया गया है। तमिलनाडु सरकार में मत्स्य मंत्री डी.जयकुमार ने कहा कि क्रिकेट बोर्ड को हमारी भावनाओं से अवगत कराया गया है।


रजनीकांत ने भी जताया विरोध :

2501042017115758

कावेरी प्रबंधन बोर्ड के मामले रजनीकांत ने कहा, इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की चेन्नई की टीम से मैचों के दौरान काला फीता बांधकर विरोध करने की अपील की है। कावेरी जल संकट के बाद कहा जा रहा है कि आईपीएल का बहिष्कार किया जाना चाहिए। शशिकला के भतीजे टीवी दिनाकरन ने आईपीएल के बहिष्कार की मांग की थी।

चेन्नई के दिग्गज खिलाड़ियों का फॉर्म में लौटना जरुरी :

चेन्नई के लिए पिछले मैच में वेस्टइंडीज के ऑलराउंडर ड्वेन ब्रावो ने 30 गेंदों में 68 रनों की पारी खेली और उनके बाद चोटिल केदार जाधव ने आखिरी ओवर में जरूरी सात रन बनाकर चेन्नई को जीत दिलाई थी। चेन्नई को पहले मैच की कमियों से पार पाना होगा।

CSK-retained-players

मुंबई के खिलाफ उसका शीर्ष क्रम और मध्य क्रम लड़खड़ा गया था, लेकिन ब्रावो ने उसे हार से बचा लिया। उसके सलामी बल्लेबाज शेन वॉटसन और अंबाती रायडू पहले मैच में टीम को अच्छी शुरुआत देने में असफल रहे थे। सुरेश रैना और टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धौनी भी बल्ले का कमाल नहीं दिखा पाए थे।

कोलकाता से पार पाना मुश्किल :

कोलकाता के खिलाफ चेन्नई के गेंदबाजी आक्रमण की परीक्षा होगी क्योंकि बेंगलूर के खिलाफ सुनील नारायण की 19 गेदों में 50 रनों की पारी के तूफान ने सभी को हैरान कर दिया और ऐसा पहली बार नहीं था कि नारायण ने इस तरह की पारी खेली हो। वह इससे पहले पिछले सीजन में भी इस तरह की पारियां खेल चुके हैं। नीतीश राणा से भी चेन्नई के गेंदबाजों को बच कर रहना होगा।

03a2cb511bcfbb05dafde29be8f3fc5f-1606513

राणा ने न सिर्फ बल्ले बल्कि गेंद से भी बेंगलूर को परेशान किया था। उन्होंने एबी डिविलियर्स और विराट कोहली जैसे बल्लेबाजों के विकेट लिए थे। बल्ले से उन्होंने नंबर-4 पर आते हुए 25 गेंदों में 34 रनों की पारी खेली थी। इन दोनों के अलावा कोलकाता के कप्तान दिनेश कार्तिक और अनुभवी बल्लेबाज रोबिन उथप्पा के खतरे से भी धौनी वाकिफ होंगे।

पिछले मैच में गेंदबाजी रही थी कमजोर :

कोलकाता के लिए उसकी गेंदबाजी थोड़ी चिंता का विषय है। पिछले मैच में मिशेल जॉनसन, कुलदीप यादव, नरेन अपना प्रभाव नहीं छोड़ सके थे। अगर कोलकाता के गेंदबाज विफल रहते हैं तो बोर्ड पर बड़ा स्कोर तय है।


कमेंट करें