लाइफस्टाइल

बारिश में इन 5 जगहों पर छुट्टियों का मजा है खास

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
376
| मई 27 , 2017 , 20:10 IST | नई दिल्ली

सावन की रिमझिम बरसात हो, और साथ में कोई खास हो तो कहां जाएं। आपकी इस चिंता का हल हमने निकाल लिया है। धीरे धीरे गर्मी दस्तक दे रही है ऐसे में बारिश का लुफ्त उठाने के लिए मौसम का इंतजार क्यों करना और बारिश का लुफ्त खिड़की से ही क्यों लेना, क्यों ने किसी खूबसूरत जगह पर इसका आंनद लिया जाए।

Barish 1

बारिश में घूमने फिरने का मन तो हर किसी का ही होता है। जब बारिश की बूंदों को आप महसूस करती हैं तभी आपका मन पूरी तरह बारिश में मस्ती करने का हो जाता है। आप भी अगर ऐसी जगह जाना चाहते हैं जहां जाकर आप इस बहतरीन मौसम का लुत्फ उठा सकें तो आज हम आपको भारत की ही ऐसी जगह बता देते हैं जहां जाकर आप मानसून का मजा लें सकते हैं। बरसात में घूमने के लिए इससे ज्यादा अच्छी जगह आपको नहीं मिलेगी।

Mandu 1

मांडू , मध्य प्रदेश

रिमझिम फुहारों और घने बादलों के मौसम में पर्यटन नगरी मांडू का सौंदर्य खिला-खिला रहता है। चारों तरफ हरियाली और नेचर का अदभुत नजारा आपको बरबस ही यहां आकर्षित करते हैं। मांडू जाएं तो यहां की ऐतिहासिक धरोहरें रानी रूपमती के महल, जहाज महल, अशर्फी महल और जामा मस्जिद को देखने जरूर जाएं।

Mandu 2

सबसे अनोखी चीज़ जो मांडू की बारिश को सबसे अलग करती है वो है ख़ुरसानी इमली के पेड़। बारिश में इस इमली के पेड़ के नीचे सावन का मजा ही कुछ और है।

केरल का मुन्नार हिल स्टेशन

नदियों व पहाडि़यों से घिरा हुआ एक अनोखा पर्यटन स्थल जो कि विदेशियों का भी दिल जीत चुका हैं वह हैं केरल। केरल के सामने हर तरह की सुदंरता फीकी पड़ जाती है। केरल में मानसून के मौसम को ड्रीम सीजन के नाम से भी जाना जाता है। संमदर का जो रूप केरल में देखने को मिलता है, वह किसी और जगह मिल ही नहीं सकता। बारिश में धूल के मुन्नार सच में अलौकिक प्रतीत होता है।

Munnar 1

मुन्नार हिल स्टेशन तीन पर्वतों की श्रृंखला - मुथिरपुझा, नल्लथन्नी और कुंडल के मिलन स्थल पर स्थित है। यह समुद्र तल से लगभग 1600 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है। इस हिल स्टेशन की पहचान है यहां के विस्तृत भू-भाग में फैली चाय की खेती, औपनिवेशिक बंगले, छोटी नदियां, झरनें और ठंडे मौसम।

Munnar 2

ट्रैकिंग और माउंटेन बाइकिंग के लिए यह एक आदर्श स्थल है।

लैंसडाउन,उत्तराखंड

लैंसडाउन उत्तराखण्ड के पौडी जिले में स्थित एक सुंदर हिल स्टेशन है। यहां भारतीय सेना के गढवाल रेजीमेंट का सैन्य-दल स्थित है। यह समुद्र तल से 1706 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है।

Lansdowne

स्थानीय भाषा में इसे 'कालुदंड' भी कहते हैं, जिसका अर्थ होता है 'काली पहाड़ी'। माना जाता है कि 1887 में, भारत के वाइसरॉय रहे लोर्ड लैंसडाउन ने इस हिल स्टेशन की खोज की। बारिश में भींग कर यह हिल स्टेशन और अधिक मोहक लगता है।

Lansdowne 2

चेरापूंजी

कुहासे में लिपटी वादियां, कलकल करती नदियां और उमड़ते बदलों के बीच प्रकृति का अलौकिक नजारा देखना हो तो मेघालय की राजधानी चेरापूंजी जाएं। अगर आपको भी बारिश की हल्की फुहारें पसंद हो तो आपके लिए मेघालय से ज्यादा अच्छी जगह कोई नहीं होगी। मेघालय को बादलों का निवास स्थान भी कहा जाता हैं क्योंकि यहां पर लगभग पूरे साल ही बारिश होती रहती हैं।

Cherapuni

धरती पर सबसे नमी पाई जाने वाली जगह जो की चेरापुंजी है। जिसका नाम सुनते ही विदेशी भी इस जगह की तरफ अपना रुख करते हैं। यहां पर होने वाले पेड़ पौधे को आप देखेंगे तो यह आपका मन मोह लेंगे। दरअसल इन पर पड़ने वाली बारिश की बूंदे पौधों पर पड़ी हुई काफी अच्छी लगती है।

Cherapunji 2

माउंट आबू

राजस्थान के सिरोही जिले में स्थित अरावली की पहाड़ियों की सबसे ऊँची चोटी बसे माउंट आबू पर बारिश का नजारा काफी मनभावन होता है। यहां की भौगोलिक स्थित और वातावरण राजस्थान के अन्य शहरों से भिन्न व मनोरम है।

Mount abu 1

माउंट आबू राज्य के अन्य हिस्सों की तरह गर्म नहीं है। माउंट आबू हिन्दू और जैन धर्म का प्रमुख तीर्थस्थल है। यहां का विश्व प्रसिद्ध दिलवारा मंदिर ऐतिहासिक धरोहर के रुप में जाना जाता है। यहां की प्राकृतिक खूबसूरती बारिश के मौसम में सैलानियों को अपनी ओर खींचती है।

Mount abu 2

 

 


कमेंट करें