अभी-अभी

भारत सरकार का बड़ा फैसला, थर्ड जेंडर कर सकते हैं अपनी पसंद की टॉयलेट का इस्तेमाल

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
146
| अप्रैल 15 , 2017 , 16:05 IST | नयी दिल्ली

हाल ही में पेयजल और स्वच्छता मंत्रालय ने फैसला किया है कि ट्रांसजेंडर अपने अनुसार लड़की या लड़के वाले पब्लिक टॉयलेट का इस्तेमाल कर सकते हैं। 3 अप्रैल को मंत्रालय ने स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) को मध्य नज़र रखते हुए एक गाइडलाइन जारी की था। इस गाइडलाइन में यह यह सुनिश्चित किया गया है कि ट्रांसजेंडर कम्युनिटी को भी वही मान-सम्मान मिले, जो कि भारत के आम नागरिकों को मिलता है।

30-09-2016-1475243443

बता दें, थर्ड जेंडर्स की मदद से पूरे देश में प्रधानमंत्री द्वारा चलाये गए स्वच्छता आंदोलन कैंपेन की जानकारी लोगों तक पहुंचाई जा रही है। इन्ही की मदद से टॉयलेट के इस्तेमाल को भी प्रमोट किया जा रहा है। ऐसे में सरकार ने इन्हें भी अपने सुविधा के हिसाब से टॉयलेट का चुनाव करने का अधिकार दिया है।

Transgenders

आपको याद दिला दें, सन 2014 में सुप्रीम कोर्ट ने ट्रांसजेंडरों को तीसरे लिंग के रूप में मान्यता दी थी और अब केंद्र सरकार की तरफ से इनको लेकर बेहतरीन पहल की जा रही है।

Transgender-1

गौरतलब है कि, ऐसी ही एक कोशिश अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भी अपने कार्यकाल के दौरान की थी। जिसे नए-नवेले राष्ट्रपति ट्रंप ने बदल दिया। ओबामा ने स्कूलों के लिए दिशा-निर्देशों जारी किया था। जिसमें लिखा था कि क्योंकि ट्रांसजेंडर का पैदाइशी और अपनाया हुआ सेक्स अलग-अलग होता है, इसलिए उन्हें वो टॉयलेट इस्तेमाल करने की अनुमति दी जाये, जहां वह आपने आपको सुरक्षित महसूस करें लेकिन ट्रंप की सरकार ने उन दिशा-निर्देशों को खारिज कर दिया है और ट्रांस बच्चे कौन सा टॉयलेट इस्तेमाल करें, इसका फैसला स्कूलों के अध्यापकों पर छोड़ दिया।

GTY_obama_trump_jef_151029_16x9_992


कमेंट करें