नेशनल

ट्रिपल तलाक को सही बताने पर स्वामी ओम की हुई पिटाई (वीडियो)

श्वेता बाजपेई, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
260
| अगस्त 22 , 2017 , 18:19 IST | नई दिल्ली

ट्रिपल तलाक पर हुए फैसले को लेकर जहां पूरा देश खुशियां मना रहा है वहीं अपने उल्टी सीधी बयानबाजी के चलते विवादों में घिरे रहने वाले स्वामी ओम ने इसपर आपत्ति जताई है। दरअसल हमेशा उल्टी सीधी बयानबाजी कर सुर्खियों में रहने वाले स्वामी ओम सर्वोच्च न्यायालय पहुंचे थे। वहां पहले से ही ट्रिपल तलाक पर फैसले का कवरेज करने बड़ी संख्या में मीडिया के लोग मौजूद थे। कोर्ट के फैसले के बाद मीडियाकर्मी के आसपास स्वामी ओम भटकने लगे। किसी समाचार चैनल के पत्रकार ने उनसे उनकी प्रतिक्रिया पूछ ली। बाबा और उनके एक साथी इसी मौके की तालाश में थे, लिहाजा उन लोगों ने बोलना शुरू किया। बाबा की बात से आसपास खड़े लोग भड़क गये और बाबा के साथ धक्कामुक्की के अलावा उनके साथी की जमकर पिटाई कर दी।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार स्वामी ओम मुख्य न्यायाधीश जस्टिस जे एस खेहर समेत पांचों जजों के फैसले को गलत बताने लगे। स्वामी ओम का कहना है कि, सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद पुरुषों की आजादी खतरें में पड़ जाएंगी और इससे महिलाओं को ओर भी आजादी मिल जाएंगी। स्वामी ओम का दावा था कि शाहबानो केस में उन्होंने फ़ैसला कराया था। अब ट्रिपल तलाक़ के फ़ैसले के लिए वो 25 करोड़ मुसलमानों को इक्ठ्ठा कर रहे हैं और फ़ैसले के ख़िलाफ़ आंदोलन करेंगे।

साथ ही अगले मुख्य न्यायाधीश के शपथ ग्रहण पर भी रोक होनी चाहिये क्योंकि उन्हें अगला मुख्य न्यायधीश बनना गलत फैसला है। बस इतना कहते वहां पर मौजूद लोगों ने स्वामी ओम के साथी की जमकर पिटाई कर दी जबकि ओम स्वामी के साथ धक्का मुक्की की गई। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से शेयर किया जा रहा है। कोर्ट सुरक्षा में लगी पुलिस ने मौके पर आकर स्वामी ओम को बाहर निकाला और सुप्रीम कोर्ट के बाहर छोड़ दिया।


कमेंट करें