विज्ञान/टेक्नोलॉजी

Twitter वेरिफिकेशन पर कंपनी ने लगाई रोक, कहा- हमसे गलती हुई

अर्चित गुप्ता | 0
74
| नवंबर 10 , 2017 , 16:53 IST | नई दिल्ली

माइक्रो ब्लॉगिंग वेबसाइट ट्विटर ने जनरल अकाउंट वेरिफिकेशन प्रोसेसर को सस्पेंड कर दिया है। ट्विटर पर अकाउंट वेरिफिकेशन के जरिए ब्लू टिक दिया जाता है जो सिर्फ पब्लिक फीगर के लिए ही होता है। कुछ गलतियों के चलते माइक्रो ब्लॉगिंग वेबसाइट ट्विटर ने जनरल अकाउंट वेरिफिकेशन प्रोसेसर को सस्पेंड कर दिया है। हाल ही में ट्विटर के फाउंडर और सीईओ जैक डोर्सी ने कहा है, ‘हमारे एजेंट्स वेरिफिकेशन पॉलिसी को सही से फॉलो करते हैं, लेकिन हमने कुछ समय पहले यह रियलाइज किया है कि यह सिस्टम टूट चुका है और फिर से इस पर काम करने की जरूरत है।

हमें इसे पहले ही ठीक करना चाहिए था और ऐसा न करके हम फेल हुए हैं। हम इसे जल्दी ठीक करने का काम कर रहे हैं। ट्विटर ने स्टेंटमेंट में कहा है, ‘वेरिफिकेशन प्रोसेस पहचान और आवाज को ऑथेन्टिकेट करने के लिए है, लेकिन इसे समर्थन और या महत्वूर्ण होने का प्रमाण माना जाने लगा। हमने ये उलझन शुरू की है और इसे अब ठीक करना होगा। हम जब तक इसे ठीक न कर लें तब तक के लिए सभी जेनेरल वेरिफिकेशन को रोक दिया गया है।’

आलोचना से भरने लगा था ट्विटर-

हाल ही में ट्विटर की आलोचना तब शुरू हुई जब व्हाइट सुपमैसिस्ट रैली के ऑर्गनाइजर जेसन केसलर का ट्विटर अकाउंट वेरिफाइड किया गया। अगस्त मे इस रैली की वजह से एक की मौत हो गई थी. इसके बाद लोगों ने ट्विटर पर ट्विटर की आलोचना शुरू करना शुरू कर दिया था। इससे पहले भी ट्विटर ने व्हीसल ब्लोअर जुलियन असांज का ट्विटर अकाउंट वेरिफाइ किया था, लेकिन बाद में ब्लू टिक हटा लिया गया।


कमेंट करें