इंटरनेशनल

सऊदी अरब में पहली बार होगी 10 हजार से ज्यादा महिला चालकों की भर्ती

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
131
| जनवरी 11 , 2018 , 16:59 IST

सऊदी अरब में उबर और करीम के जरिए टैक्सी सर्विस देने वाली कंपनियों ने महिलाओं की भर्ती करना शुरू कर दिया है। बता दें, सऊदी सरकार ने जून 2018 से महिला ड्राइवरों पर लगी पाबंदी हटाने की घोषणा की है।

ऐसे में ऊबर जैसी कंपनियों ने महिला ड्राइवरों को नियुक्त करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। खास बात यह है कि ऊबर और करीम दो कंपनियों ने ही जून 2018 तक 10 हजार से ज्यादा महिला ड्राइवरों को नौकरी पर रखने की योजना बनाई है।

माना जा रहा है कि महिला ड्राइवरों के होने से देश की ऐसी महिलाएं भी ऐप बेस्ड टैक्सी इस्तेमाल करने के लिए आगे आएंगी, जो अभी अजनबी ड्राइवर के कारण इसका इस्तेमाल नहीं करती हैं। सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक इस समय ऊबर के सऊदी राइडर बेस की 80 फीसदी महिला ग्राहक हैं जबकि उसकी दुबई-बेस्ड समकक्ष कंपनी करीम का 70 फीसदी बिजनेस यहीं से आता है।

इस देश में महिला मुसाफिरों के लिए ऐप बाहर घूमने के लिए लाइफलाइन की तरह है। फिलहाल, दोनों फर्म्स के द्वारा रखे गए सभी ड्राइवर पुरुष हैं। इनमें से ज्यादातर सऊदी नागरिक अपनी ही गाड़ियों को चलाते हैं। पिछले साल सितंबर में ऐतिहासिक शाही आदेश आने के बाद करीम ने रियाद, जेद्दा और अल खोबर शहरों में 90 मिनट के ट्रेनिंग सेशंस की सीरीज लॉन्च की। इसके जरिए उन सऊदी महिलाओं तक पहुंचा जा रहा है जिन्होंने पहले ही विदेश में वैध ड्राइविंग लाइसेंस हासिल कर लिया है।

170926-saudia-arabia-women-driving-ew-320p_c3995a80691c3c25491ba8aafc7cd5c5.nbcnews-ux-2880-1000

करीम कंपनी पाकिस्तान, मध्य पूर्व, उत्तरी अफ्रीका के कुल 13 देशों में काम करती है। करीम के साथ ड्राइवर के अलावा दूसरे पदों पर काम कर रहीं मौजूदा महिलाएं सेशंस के दौरान आने वाली महिलाओं को सऊदी के सड़क कानून, ग्राहकों को सेवा देने और ऐप इस्तेमाल करने के तरीके के बारे में जानकारी दे रही हैं। करीम के सह-संस्थापक अब्दुल्ला ने कहा कि हमें ड्राइवर के तौर पर काम करने की इच्छुक हजारों महिलाओं के आवेदन मिल चुके हैं।

इसे भी पढ़े :- इस बच्ची को इंसाफ कब मिलेगा? गुस्से में सुलग रहा है पाकिस्तान

उन्होंने बताया कि ट्रेनिंग सेशन पूरा करने वाली महिलाओं को सर्टिफिकेट दिया जाएगा। उधर, ऊबर ने 'one-stop-shop' फसिलिटीज शुरू करने की घोषणा की है, जिससे महिला ड्राइवरों की नियुक्ति की जा सके।


कमेंट करें