नेशनल

दिल्ली: उबर ड्राइवर ने कैब में की युवती से छेड़छाड़, पुलिस ने किया गिरफ्तार

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
651
| मार्च 13 , 2018 , 08:41 IST

देश की राजधानी दिल्ली के महेन्द्र पार्क थाना पुलिस ने एक उबर कैब चालक को गिरफ्तार किया है। चालक अपने कार में सवार युवती को अगवा कर उसके साथ छेड़छाड़ किया था। युवती ने बतताया कि गत 9 मार्च को कैब बुक कर घर जाते समय न सिर्फ छेड़छाड़ की थी, बल्कि उसे कार में बंद भी कर दिया था।

किसी तरह से लॉक खोलने के बाद पीडि़ता कैब से नीचे उतर कर भागी और उसने पुलिस में शिकायत की। पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी चालक को गिरफ्तार कर लिया।

जिला पुलिस उपायुक्त असलम खान ने बताया कि गिरफ्तार कैब चालक की पहचान गांधीनगर, गन्नौर, हरियाणा निवासी संजीव उर्फ संजू के रूप में हुई है। पुलिस के अनुसार पीड़ित युवती 9 मार्च को कुंडली हरियाणा से रोहिणी सेक्टर तीन स्थित अपने घर आने के लिए ऐप के जरिए एक उबर कैब बुक किया। मौके पर पहुंची स्विफ्ट का नंबर कर्मशियल वाहन का नहीं था। कार के शीशे भी काले थे।

Uber-1520907410

शक होने पर उसने मोबाइल ऐप पर भेजे गये चालक का फोटो देखा जो कार चालक से मेल नहीं खा रहा था। कार चालक शीशे से लगातार युवती को घूर रहा था और शराब की बातें कर रहा था। पीडि़ता ने देखा कि चालक उसे दूसरे रूट से लेकर जाने का प्रयास कर रहा है।

तब पीडि़ता ने चालक को रोकने की कोशिश की। इस पर चालक पीडि़ता को जान से मारने की धमकी दी और उसके साथ छेड़छाड़ करने लगा। पीडि़ता ट्रैफिक लाइट पर गाड़ी रूकते ही कार से नीचे उतरने की कोशिश की। लेकिन चालक ने कार के सेंट्रल लॉक बंद कर दिया।

इसके बाद चालक कार में सीएनजी डलवाने के लिए उसे जीटी करनाल रोड के पास सीएनजी पंप पर ले गया, जहां सेंट्रल लॉक खोलते ही पीडि़ता कार से नीचे छलांग लगा दी। इसके बाद चालक कार समेत फरार हो गया।

पीडि़ता ने इसकी शिकायत महेंद्र पार्क थाने में की। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की। जांच के दौरान उबर कंपनी से कार का नंबर लेकर उसकी पहचान कर ली। कार गांव जैंतीकलां, सोनीपत में अमित के नाम पर रजिस्टर्ड थी।

इस बात की जानकारी मिलने के बाद पुलिस की टीम ने गांव में छापा मारा तो उसमें एक चालक शराब के नशे में सो रहा था। उसकी पहचान संजीव के रूप में हुई। संजीव ने बताया कि वह इस कार को चलाता है लेकिन उसका नाम उबर कंपनी में रजिस्टर्ड नहीं है। जांच में पता चला कि आरोपी चालक के पास लाइसेंस भी नहीं है। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर कार को जब्त कर लिया है।

इसे बी पढ़ें-: 6 महीने का भरोसा लेकर लौट गए 40,000 किसान, मांगें माने जाने के बाद आंदोलन वापस

उधर कार के मालिक अमित ने बताया कि कुछ दिन पहले कार दुर्घटनाग्रस्त हो गया था जिसकी वजह से उसने कमर्शियल नंबर हटा दिया था। साथ ही उसने यह भी खुलासा किया कि इस चालक को उसने छह दिन पहले ही काम पर रखा था और उसने उबर में उसका रजिस्ट्रेशन नहीं करवाया था।


कमेंट करें