मनोरंजन

आपातकाल के समय किशोर दा के गानों को कर दिया गया था बैन। 10 कहानियां

आरती यादव, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
220
| अक्टूबर 13 , 2017 , 11:17 IST | मुंबई

किशोर कुमार बॉलीवुड का एक ऐसा चमकता सितारा, जो जब तक जिंदा रहा अपने करिश्माई व्यक्तिव की चमक बिखेरता रहा। गायक, संगीतकार, अभिनेता, निर्माता और लेखक होने के साथ ही किशोर ​कुमार बहुमुखी प्रतिभा के धनी माने जाते हैं। आज किशोर कुमार की पुण्यतिथी है।

आज भले ही किशोर कुमार अपने फैंस के बीच मौजूद ना हो, लेकिन उनकी विरासत आज भी उन्हें लोगों के बीच अमर है। 4 अगस्त, 1929 को जन्मे आभास कुमार गांगुली ने फिल्मी दुनिया में अपनी पहचान किशोर कुमार के नाम से बनाई है। आइए हम आपको बताते हैं किशोर कुमार के जन्मदिन पर उनके जीवन से जुड़े कुछ ऐसी ही दिलचस्प और अनकही बातें।

1. किशोर कुमार संगीत प्रेमियों के राजा कैसे बने

किशोर कुमार संगीत प्रेमियों के राजा कैसे बन गए, इसकी बेहद मजेदार कहानी है। किशोर अपने बड़े भाई अशोक कुमार के मुंबई स्थित घर में छुट्टियां बिताने पहुंचे थे। एक दिन अशोक कुमार के घर अचानक संगीतकार सचिन देव बर्मन पहुंच गए, उन्होंने बैठक में किसी के गाने की आवाज सुनी तो दादा मुनि से पूछ बैठे 'कौन गा रहा है?' अशोक कुमार ने जवाब दिया- 'मेरा छोटा भाई है। जब तक गाना नहीं गाता, उसका नहाना पूरा नहीं होता है सचिन देव बर्मन पहली दफा किशोर की आवाज से इस तरह रूबरू हुए थे, बाकी की कहानी पूरी दुनिया जानती है, सचिन देव बर्मन ही थे जिन्होंने किशोर की प्रतिभा को पहचाना और भारतीय संगीत को एक ऐसा नगीना दिया जिसकी चमक आज भी कायम है।

Untitled-7-1470316610

2. किशोर कुमार को अपने शहर खंडवा से बेहद प्यार था

किशोर कुमार को अपने शहर खंडवा से बेहद प्यार था। इसकी बानगी कई मौकों पर नजर आई। किशोर कुमार ने जब-जब स्टेज-शो किए, हमेशा हाथ जोडक़र सबसे पहले संबोधन करते थे। मेरे दादा-दादियों, मेरे नाना-नानियों, मेरे भाई-बहनों, तुम सबको खंडवे वाले किशोर कुमार का राम-राम नमस्कार। ऐसे ही अपने शहर से लगाव के चलते उन्होंने अपनी दूसरी बीवी मधुबाला से शादी के बाद मजाक में कहा था। मैं दर्जनभर बच्चे पैदा कर खंडवा की गलियों में उनके साथ घूमना चाहता हूं।

Kishore-kumar-birthday_75878_730x419

3. किशोर दा किसी पर अपना पैसा छोड़ते नहीं थे

किशोर कुमार के सबसे मशहूर किस्सों में है 'पैसा'! कहते हैं किशोर दा किसी पर अपना पैसा छोड़ते नहीं थे और इसे लेकर कई किस्से भी मशहूर हैं। फिल्म 'प्यार किए जा' में कॉमेडियन महमूद ने किशोर कुमार, शशि कपूर और ओमप्रकाश से ज्यादा पैसे वसूले थे। किशोर को यह बात अखर गई। इसका बदला उन्होंने महमूद से फिल्म 'पड़ोसन' में लिया - दोगुना पैसा लेकर।

Image_20170804120731

4. इंदौर के क्रिश्चियन कॉलेज में पढने आए

किशोर कुमार का बचपन तो खंडवा में बीता, लेकिन जब वे किशोर हुए तो इंदौर के क्रिश्चियन कॉलेज में पढऩे आए। हर सोमवार सुबह खंडवा से मीटरगेज की छुक-छुक रेलगाड़ी में इंदौर आते और शनिवार शाम लौट जाते है। कहते हैं वो अपने शहर से ज्यादा दिनों तक दूर नहीं रह पाते थे। सफर में वे हर स्टेशन पर डिब्बा बदल लेते और मुसाफिरों को नए-नए गाने सुनाकर मनोरंजन करते थे।

Kishore-Kumar

5. कस्बाई आकर्षण से मुक्त नहीं हो पाए

किशोर कुमार ताउम्र कस्बाई आकर्षण से मुक्त नहीं हो पाए, मुंबई की भीड़ उन्हें बांध नहीं पाती थी, पार्टियां और ग्लैमर उनकी आत्मा में नहीं उतरा, उनकी आखिरी इच्छा थी कि खंडवा में ही उनका अंतिम संस्कार किया जाए। इस इच्छा को पूरा भी किया गया और खंडवा में ही उनका अंतिम संस्कार हुआ. पूरा शहर अपने इस नायक को अलविदा कहने के लिए गुनगुनाता हुआ चला आ रहा था, किशोर कुमार कहा करते थे- 'फिल्मों से संन्यास लेने के बाद वे खंडवा में ही बस जाएंगे और रोज दूध-जलेबी खाएंगे।

Ch761806

6. किशोर कुमार ने की थी चार शादीयां

किशोर कुमार ने अपनी जिंदगी में चार शादियां की थी। उनकी पहली पत्नी रुमा देवी थी, लेकिन आपसी अनबन के कारण उनका तलाक हो गया। इसके बाद उन्होंने मधुबाला के साथ शादी रचाई, जिसके लिए उन्होंने अपना धर्म भी बदल लिया था और अपना नाम 'करीम अब्दुल' रख लिया। कुछ सालों बाद मधुबाला ने दुनिया को अलविदा कह दिया। किशोर ने 1976 में अभिनेत्री योगिता बाली के साथ शादी रचाई। लेकिन यह शादी भी ज्यादा दिनों तक नहीं चल सकी। वर्ष 1980 में उन्होंने चौथी और आखिरी शादी लीना चंद्रावरकर से की।

Kishor-kumar-640x330

7. लता मंगेशकर को जब लगा किशोर कुमार उनका पीछा कर रहे है।

किशोर कुमार पहली बार लता मंगेश्कर से ट्रेन में मिले थे। इन दोनों को ही बॅाम्बे टॅाकिस् जाना था। उस समय लता मंगेश्कर को लगा कि किशोर कुमार उनका पीछा कर रहे हैं।

8. आपातकाल के समय किशोर कुमार के गीतों के प्रसारण पर रोक लगा दी थी

1975 में देश में आपातकाल के समय एक सरकारी समारोह में भाग लेने से साफ मना कर देने पर तत्कालीन सूचना एवं प्रसारण मंत्री विद्याचरण शुक्ला ने किशोर कुमार के गीतों के आकाशवाणी से प्रसारित किए जाने पर पर रोक लगा दी थी और किशोर कुमार के घर पर आयकर के छापे भी डाले गए। मगर किशोर कुमार ने आपातकाल का समर्थन नहीं किया।

Happy-birthday-kishore-kumar-read-here-kishore-daas-funny-facts2_730X365

9. कॉलेज की कैंटीन से उधार लेकर खाते थे

वह बचपन में कॉलेज की कैंटीन से उधार लेकर खुद भी खाना खाते और दोस्तों को भी खिलाते थे। किशोर कुमार पर जब कैंटीन वाले के पांच रुपये बारह आना उधार हो गए और कैंटीन मालिक उन्हें उधारी चुकाने को कहता तो वह कैंटीन में बैठकर टेबल पर गिलास और चम्मच बजा-बजा कर पांच रुपया बारह आना गा-गा कर कई धुन निकालते थे और कैंटीन वाले की बात अनसुनी कर देते थे। बाद में उन्होंने अपने इस गीत का खूबसूरती से इस्तेमाल किया, जो काफी हिट हुआ।

10. जब राजेश खन्ना ने किशोर कुमार के लिए कहा “मेरी आवाज चली गई”

किशोर कुमार की आवाज राजेश खन्ना पर बेहद जमती थी। राजेश फिल्म निर्माताओं से किशोर से ही अपने लिए गीत गंवाने की गुजारिश किया करते थे। जब किशोर कुमार नहीं रहे तो राजेश खन्ना ने कहा था कि  “मेरी आवाज चली गई।”

यहां देखिए किशोर कुमार के मशहूर गानें


कमेंट करें