नेशनल

दिव्यांग कर्मी पर भड़के योगी सरकार के खादी मंत्री, वायरल हो गया बदतमीजी का वीडियो

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
250
| अप्रैल 20 , 2017 , 13:31 IST | लखनऊ

देश के प्रधानमंत्री अपनी पार्टी के मंत्रियों और अधिकारियों को सोच-समझकर बोलने की सलाह देते है, मगर कुछ मंत्री ऐसे है कि जो उनकी बातों को अनदेखा करते हुए अपनी चलाते हैं। बता दें कि पिछले एक महीने से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ काम को लेकर काफी सख्ती बरत रहे हैं। ऐसे में योगी अपने मंत्रियों का भी आकलन करते रहते है मगर इसके विपरीत एक घटना सामने आई है जिसने योगी आदित्यनाथ और पीएम मोदी की साख पर सवाल खड़ा कर दिया है।

 

हाल ही में योगी सरकार के खादी और ग्रामद्योग मंत्री सत्यदेव पचौरी ने एक दिव्यांग को लूला-लंगड़ा कह डाला। दरअसल बुधवार को पचौरी लखनऊ के डालीबाग स्थित खादी ग्रामद्योग बोर्ड के ऑफिस गए थे और वहां पर साफ सफाई का निरीक्षण कर रहे थे। इसके बाद उन्होंने दिव्यांग को देखते हुए कहा कि,

लूले-लंगड़े लोगों को संविदा पर रखा है, ये क्या सफाई कर पाएगा। तभी ऐसा हाल है यहां की सफाई का।

 

देखिए वीडियो 

Adityanath

दिव्यांगों के लिए ऐसे कटु शब्दों का पचौरी ने प्रयोग तब किया जब देश के प्रधानमंत्री दिव्यांगों के लिए स्वंय कार्यक्रम करते है और उनका खासा सम्मान करते हैं। यहां तक की प्रधानमंत्री ने इनका नाम बदलकर विकलांग से दिव्यांग कर दिया।

दिव्यांग के लिए अपशब्दों का प्रयोग करने के बाद पचौरी ने पूरे ऑफिस की सफाई का जायजा लिया और वहां की गंदगी देख अफसरों को खरी-खोटी सुनाई। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री एक ओर स्वच्छ भारत अभियान चला रहे हैं और आप लोगों को सफाई करनी नहीं आती। शाम तक सफाई नहीं की तो सर पर रखकर कूड़ा उठवाएंगे।

Pc-141002-india-clean-up-modi-6a_db1e308a1a4dec9bfc4fdad313580507

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी की राह में चल रहे योगी ने दिव्यांगों के सम्मान में विभाग का नाम बदलकर दिव्यांगजन जनसशक्तिकरण विभाग कर दिया है। इतना ही नहीं पिछले साल दिव्यांगों के लिए मोदी सरकार ने संसद में बिल पास कराया। जिसमें नि:शक्तजनों से भेदभाव किए जाने पर दो साल तक की सजा और अधिकतम 5 लाख रुपए जुर्माने का प्रावधान किया गया।


कमेंट करें