नेशनल

अमेरिका का पाक को दो टूक जवाब- आतंक के खिलाफ नहीं की कार्रवाई तो नहीं मिलेगा फंड

श्वेता बाजपेई, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
143
| जुलाई 15 , 2017 , 16:26 IST | नई दिल्ली

अमेरिका की प्रतिनिधि सभा ने 621.5 अरब डॉलर का रक्षा व्यय विधेयक पारित किया है जिसमें भारत के साथ रक्षा सहयोग बढाए जाने का प्रस्ताव रखा गया है। वहीं, एक अन्य महत्वपूर्ण घटनाक्रम में अमेरिका ने पाकिस्‍तान को दिए जाने वाले सैन्‍य सहायता में बड़ी कटौती की है।   पारित हुए बिल में पाकिस्तान को मिलने वाली अमेरिकी सैन्य सहायता पर लगाम कसने के प्रावधान शामिल हैं। ये बिल राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बजट अनुरोध से अधिक है।

Trump

गौरतलब है कि अमेरिका से गरीबी खत्म करने के नाम पर फंड लेकर पाकिस्तान उसका प्रयोग हथियारों और आतंकी गतिविधियों में करता था। लेकिन अब अमेरिकी बिल के आने से पाकिस्तान को अमेरिका से फंड लेने में मुश्किलें आएंगी जिससे वह अमेरिका से प्राप्त फंड का गलत प्रयोग नहीं कर पायेगा।

 भारत और चीन सीमा विवाद के बीच देश को अमेरिका का साथ मिल गया है। अमेरिकी संसद में भारत के साथ सहयोग में 621.5 बिलियन डॉलर का एक एडवांस डिफेंस बिल पास किया गया है। यह बिल भारतीय मूल के अमेरिकी सांसद अमी बेरा द्वारा संशोधन के रूप में लाया गया।यह संशोधन राष्ट्रीय रक्षा प्राधिकरण अधिनियम (NDAA) 2018 के भाग के रूप में पारित किया गया। जो इस साल 1 अक्टूबर से लागू होगा। एनडीएए -2018 बिल संसद में 81 के मुकाबले 344 मतों से पारित किया गया।

Nawaz

संसद में पारित इस बिल के संबंध में कहा गया है कि इसे विदेश मंत्री के साथ सलाह करके पारित किया गया है, जिसमें अमेरिका और भारत के बीच सहयोग बढ़ाने की रणनीति से किया गया है। वहीं बेरा ने कहा कि अमेरिका दुनिया की सबसे पुरानी लोकतांत्रिक व्यवस्था है और भारत सबसे बड़ी लोकतांत्रिक व्यवस्था है।

 

 


कमेंट करें