इंटरनेशनल

डोनाल्ड ट्रंप के बिल को मंजूरी देने से अमेरिका में शटडाउन हुआ खत्म

आशुतोष कुमार राय, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
211
| जनवरी 23 , 2018 , 10:16 IST

अमेरिका में पिछले तीन दिन से चल रहे शटडाउन को सोमवार को खत्म कर दिया गया। इससे पिछले तीन दिन से ठप पड़ा कामकाज अब फिर से शुरू हो सकेगा। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक फंडिंग बिल को साइन करके शटडाउन को खत्म कर दिया।

इस नए बिल के तहत आठ फरवरी तक अमेरिकी सरकार को कामकाज के लिए पैसे मिलते रहेंगे। इस बिल के तहत बच्चों के लिए जारी इंश्योरेंस प्रोग्राम को कम से कम छह माह तक के लिए फंड दिया जा सकेगा।

लेकिन इस नए बिल पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के समय के इंश्योरेंस प्रोग्राम के लिए पैसे नहीं मिल सकेंगे जो कि डेमोक्रेटिक पार्टी की सबसे बड़ी मांग थी।

Rtr3fh1q

अमेरिका में ऐंटी-डेफिशिएंसी ऐक्ट लागू है। इसके तहत अमेरिका में पैसे की कमी होने पर संघीय एजेंसियों को अपना कामकाज रोकना पड़ता है यानि कर्मचारियों को छुट्टी पर भेज दिया जाता है। इस दौरान उन्हें वेतन भी नहीं दिया जाता।

इस स्थिति में सरकार संघीय बजट लाती है, जिसे प्रतिनिधि सभा और सीनेट, दोनों में पारित कराना जरूरी होता है।

अमेरिका के आर्थिक इतिहास में इसका सामना कई बार करना पड़ा है। इससे ठीक पहले अक्टूबर 2013 में शटडाउन की स्थिति पैदा हुई थी जब सत्ता में डेमोक्रैट्स की सरकार थी और बराक ओबामा राष्ट्रपति थी। तब शटडाउन 16 दिनों तक चला था और 8 लाख कर्मचारियों को इस दौरान घर बैठना पड़ा था।

इससे पहले 1981, 1984, 1990 और 1995-96 के दौरान अमेरिका के पास खर्च करने के लिए पैसा नहीं बचा था। 1995-96 की अवधि में 21 दिनों तक शटडाउन चला था, जो 6 जनवरी 1996 को समाप्त हुआ था।

राष्ट्रपति ट्रंप को शपथ ग्रहण करने के साल पूरा होने के वक्त आए इस संकट के कारण जश्न से दूरी बरतनी पड़ी और छुट्टियां रद्द करनी पड़ीं। उनका पूरा वक्त ओवल ऑफिस में बीता जब वह सीनेट में माइनॉरिटी लीडर चक शूमर के साथ सरकार को चलने देने के लिए डील की कोशिश कर रहे थे।

इसे भी देखें:- दावोस: स्विस प्रेसिडेंट से PM मोदी की हुई मुलाकात, काले धन पर कसेगी नकेल

जब उन्हें डील की उम्मीद क्षीण दिखने लगी, तब उन्होंने दोहराया कि इसके लिए डेमोक्रैट्स को जिम्मेदार ठहराया जाएगा। हाल के इतिहास में यह पहली बार है जब शटडाउन ऐसे समय में हुआ है जब दोनों सदनों-प्रतिनिधि सभा और सीनेट और यहां तक कि वाइट हाउस भी एक ही पार्टी द्वारा नियंत्रित है।

 


कमेंट करें