नेशनल

अटल युग से मोदी युग तक वैंकेया नायडू के राजनीतिक सफर पर डालिए एक नजर

सतीश वर्मा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
357
| अगस्त 5 , 2017 , 19:51 IST | नई दिल्ली

वेंकैया नायडू देश के 15वें उप राष्ट्रपति निर्वाचित घोषित किए गए। वाइस प्रेसिडेंट इलेक्शन में उन्हें 771 में से 516 वोट मिले। वोटिंग से एक दिन पहले शुक्रवार को नायडू ने बीजेपी और एनडीए मेंबर्स के सामने एक इमोशनल स्पीच दी। उन्होंने कहा कि,

जब मेरी उम्र बहुत कम थी, तभी मेरी मां गुजर गईं। जब मैंने बीजेपी ज्वाइन की, तब से मैं इस पार्टी को ही अपनी मां मानता हूं

वेंकैया ने एक किस्से का जिक्र किया,

बचपन में जब अटल बिहारी वाजपेयी जी और लाल कृष्ण आडवाणी जी मेरे गांव में आते थे, तब मैं इनकी मीटिंग के बारे रिक्शे में प्रचार करता था। मैं माइक पर अनाउंसमेंट करता था, आज शाम को कबड्डी मैदान में आम सभा होने वाली है। श्रीमान अटल बिहारी वाजपेयी जी आने वाले हैं, तरुण हृदय सम्राट.. आप आइए और सभा को सफल बनाइए। उस वक्त लोग उन्हें इस नाम से पुकारते थे

दक्षिण की राजनीति का अहम चेहरा हैं वैंकेया नायडू

वेंकैया नायडू आंध्रप्रदेश से हैं। पूरे देश में अपनी जड़ें मजबूत करने की कोशिश करने का प्लान कर रही बीजेपी के लिए ये अब एक सुनहरा मौका मिला है वैंकेया के जरिये दक्षिण में राजनीति चमकाने का। और इसी रणनीति के तहत पार्टी ने वैंकेया नायडू के को उप राष्ट्रपति बनाया है। अब बीजेपी के दक्षिण का दांव चल गया है जो 2019 के लिए भी एक रास्ता बनाएगा।

Atal

2002 में वेंकैया नायडू को जब बीजेपी अध्यक्ष चुना गया तब तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने मिठाई खिलाकर उनका अभिनंदन किया था। यह फोटो दोनों नेताओं के आपसी संबंधों की भी बानगी है।

राज्यसभा का लंबा अनुभव

वेंकैया नायडू चार बार राज्यसभा के सांसद रह चुके हैं। नायडू पहली बार राज्यसभा के लिए 1998 में चुने गए थे इसके बाद से ही 2004, 2010 और 2016 में वह राज्यसभा के सांसद बने। इसके अलावा भी वेंकैया नायडू कई कमेटियों का हिस्सा रह चुके हैं।

पार्टी का भरोसेमंद चेहरा

वैंकेया नायडू 1975 के दौरान इमरजेंसी में जेल भी गए थे। 1977 से 1980 के बीच जनता पार्टी के समय में वे यूथ विंग के प्रेसिडेंट भी रहे। 1978 में वे विधायक भी चुने गए थे। इसके अलावा नायडू पार्टी के कई अहम पदों पर भी रह चुके हैं।

Vm

वेंकैया नायडू का राजनीतिक सफऱ

1 जुलाई 1949 को आंध्र प्रदेश के नेल्लोर जिले में जन्म

नायडू 70 के दशक में आरएसएस के साथ जुड़े

आपातकाल के दौरान वेंकैया नायडू जेल भी गए

1978-1983 नेल्लौर से विधायक रहे नायडू

1998 से अबतक बीजेपी के राज्यसभा सांसद

2002 और 2004 में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे

1988-1993 तक आंध्र प्रदेश राज्य बीजेपी के अध्यक्ष रहे

1980 से 1983 के बीच नेशनल बीजेपी यूथ विंग के उपाध्यक्ष

आंध्र प्रदेश 1980 से 85 विधानसभा में बीजेपी के नेता प्रतिपक्ष

1988 से 1993 के बीच वह आंध्र प्रदेश बीजेपी के अध्यक्ष भी बने

1993 से 2000 तक नायडू बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव बने

2002 में वे पहली बार बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बने

दिसंबर 2002 तक अध्यक्ष रहे, इसके बाद 2004 में दोबारा वे अध्यक्ष बने

अप्रैल 2005 के बाद वे बीजेपी के सीनियर उपाध्यक्ष बनाए गए

2006 के बाद वेंकैया को बीजेपी पार्लियामेंट्री बोर्ड का सदस्य और केंद्रीय चुनाव समिति का सदस्य बनाया गया

Vm 4

मोदी सरकार का रहे बड़ा चेहरा

पार्टी के साथ-साथ वेंकैया नायडू सरकार में भी बड़ा चेहरा हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री राजनाथ सिंह, वित्तमंत्री अरुण जेटली, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के बाद वेंकैया ही सबसे सीनियर मंत्री रह चुके हैं। वेंकैया अटल सरकार के दौरान ग्रामीण विकास मंत्री थे, वहीं मोदी सरकार के दौरान उन्होंने शहरी विकास मंत्रालय की बागडोर संभाली। इसके अलावा नायडू ने संसदीय कार्यमंत्री, सूचना प्रसारण मंत्री का कार्यभार भी संभाला।

 


कमेंट करें