अभी-अभी

पंचतत्व में विलीन हुए अभिनेता विनोद खन्ना, सितारों ने नम आंखों से दी अंतिम विदाई

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
454
| अप्रैल 27 , 2017 , 20:31 IST | मुंबई

मशहूर अभिनेता विनोद खन्ना पंचतत्व में गुरुवार को विलीन हो गए। उनका अंतिम संस्कार मुंबई के वर्ली शमशान घाट पर किया गया और उन्हें मुखाग्नि छोटे बेटे साक्षी खन्ना ने दी। विनोद खन्ना की अंतिम यात्रा में बॉलीबुड जगत की बड़ी हस्तियां शामिल हुई। 

बॉलीवुड के महानायक अभिताभ बच्चन से लेकर गायक उदित नारायण तक शामिल हुए। बता दें कि विनोद खन्ना का निधन गुरूवार सुबह करीब 11 बजे हुए है।

आपको बता दें कि पंजाब के गुरदासपुर से बीजेपी सांसद विनोद खन्ना का मुंबई में निधन हो गया। मुंबई के एक अस्पताल में उन्होंने आखिरी सांस ली। वह 70 साल के थे। 


कुछ दिन पहले ही उनकी तस्वीर वायरल हुई थी, जिसमें वो काफी बीमार दिख रहे थे। हालांकि तब ये कहा गया था कि उनकी तबीयत ठीक है और वो धीरे-धीरे स्वस्थ हो रहे हैं। लेकिन गुरुवार को अचानक से मुंबई से खबर आई कि उनकी मौत हो गई है। 

Vinod-Khanna-Pakistani-film
खबरों की मानें तो विनोद खन्ना को ब्लैडर कैंसर था। हालांकि इस बात की पुष्टि उनके परिवार ने नहीं की। जब विनोद खन्ना अस्पताल में थे, जब उनके बेटे राहुल खन्ना ने बताया था कि डैड बिल्कुल स्वस्थ हैं और उन्हें जल्द ही अस्पताल से छुट्टी मिल जाएगी।


विनोद खन्ना ने 1971 में सोलो लीड रोल में फिल्म 'हम तुम और वो' में काम किया था। विनोद खन्ना ने राजनीति में भी सफल पारी खेली। फिलहाल वह पंजाब की गुरदासपुर सीट से बीजेपी के सांसद रहे हैं. एक वक्त में वे बीजेपी के स्टार प्रचारक थे।

000

ये हैं यादगार फिल्में

विनोद खन्ना ने 'मेरे अपने', 'कुर्बानी', 'पूरब और पश्चिम', 'रेशमा और शेरा', 'हाथ की सफाई', 'हेरा फेरी', 'मुकद्दर का सिकंदर' जैसी कई शानदार फिल्में की हैं। विनोद खन्ना का नाम ऐसे एक्टर्स में शुमार था जिन्होंने शुरुआत तो विलेन के किरदार से की थी लेकिन बाद में हीरो बन गए। विनोद खन्ना ने 1971 में सोलो लीड रोल में फिल्म 'हम तुम और वो' में काम किया था।

00

विनोद खन्ना का जन्म 7 अक्टूबर, 1946 में पेशावर, पाकिस्तान में हुआ था लेकिन विभाजन के बाद इनका परिवार मुंबई आकर बस गया था। इनके पिता किशनचन्द्र खन्ना एक बिजनेसमैन रहे हैं और माता कमला खन्ना एक हाउसवाइफ रही है।


कमेंट करें