लाइफस्टाइल

सावधान: कार का AC हो सकता है आपके लिए खतरनाक, जानिये कैसे

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
102
| जून 30 , 2017 , 15:11 IST | नई दिल्ली

गर्मियों के दिनों में अक्सर लोग ऐसी गलती कर जाते हैं जिनका उनको अनुमान भी नहीं होता हैं। जी हां, आप कार में बैठते ही उम्मीद करते हैं कि जल्दी से कार का एसी ऑन हो और आपको तपती गर्मी से जल्द राहत मिले। लेकिन क्या आप ये जानते हैं, ऐसा करने से आप बीमारियों को आमंत्रण दे रहे हैं।

दरअसल एक शोध के अनुसार गाड़ी के शीशे बंद होने पर तुरंत एसी चला दिया जाए तो एक ऐसी गैस निकलती है जो आपकी सेहत पर सीधे असर डालती है। इसका पता आपको तुरंत ही चल जाता है। लेकिन जब एसी को आप ऑन करते हैं तो गर्म या प्लास्टिक की हल्की सी महक आती है।

Back-Pain-Driving

ये इसलिए होता है क्योंकि, कार में डैश बोर्ड, सीट, एसी की डक्ट्स और वे सभी वस्तुएं जो प्लास्टि‍क या फाइबर की बनी होती हैं। कार के सभी दरवाजे और शीशे बंद रहने और गर्मी के कारण बेंजीन नामक गैस छोड़ती हैं। ये विषैली और बेहद हानिकारक गैस है। इस गैस के कारण कैंसर की शुरुआत हो जाती है। इसके बाद जब आप आते हैं तो कांच को खोलने की बजाय एसी चालू कर देते है तो इससे ये गैस हमारे अंदर सांस के माध्यम से शरीर में प्रवेश करती है।

खिड़कियां हल्की खोल दें -

अगर आपकी कार काफी देर से खुली धूप में खड़ी है, तो केबिन गर्म हो जाता है। जब आप बैठें, तो खिड़कियों को थोड़ा खुला छोड़ दें, जिससे भीतर की गर्म हवा बाहर निकल जाए। एसी चलाने का मुख्य मकसद ही भीतर की गर्मी को बाहर निकालना होता है। ऐसे में जब आप एसी ऑन कर खिड़कियों को हल्का खुला छोड़ देंगे तो एसी को भीतर की गर्मी बाहर फेंकने में मदद मिलेगी।

N

एसी का रीसर्क्युलेशन मोड

जब आप कार स्टार्ट करते हैं, तो एसी का रीसर्क्युलेशन मोड ऑफ कर दें। इससे वेंटिलेशन के जरिए भीतर की गर्मी बाहर चली जाएगी। जब हवा ठंडी होने लगे, तो रीसर्क्युलेशन मोड ऑन कर लें, जिससे केबिन में सिर्फ ठंडी हवा ही आए। इस तरह कार एसी बेहतर ढंग से काम करेगा।

M

एसी की नियमित देखभाल

कार एसी का नियमित मैंटिनेंस भी बेहद जरूरी है। अगर आपको कार के एसी सिस्टम में कोई गड़बड़ी महसूस हो, तो कंप्रेसर को तुरंत चेक करें। इसके अलावा गर्मियों का मौसम शुरू होने से पहले एक बार एसी चेक जरूर करवाएं।

G

ऑटो क्लाइमेट कंट्रोल

अगर आपकी कार ऑटो एसी व ऑटो क्लाइमेट कंट्रोल से लैस है, तो कार स्टार्ट करते ही एसी की स्पीड स्लो कर दें। बाद में जब कार रफ्तार पकड़ ले, तो एसी मनमुताबिक बढ़ा सकते हैं। इससे एसी पर ज्यादा लोड नहीं आएगा और कूलिंग भी बेहतर रहेगी।

F


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव प्रोड्यूसर हैं

कमेंट करें