विज्ञान/टेक्नोलॉजी

याहू ने किया बड़ा खुलासा, 2013 में 3 अरब अकाउंट्स हुए थे हैक

श्वेता बाजपेई, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
144
| अक्टूबर 5 , 2017 , 13:11 IST | नई दिल्ली

वेब सर्विस प्रोवाइडर कंपनी याहू ने अब तक का सबसे बड़ा खुलासा किया है। कंपनी ने बताया कि साल 2013 में हुई उसके सभी 3 बिलियन अकाउंट की जानकारी चोरी हो गई थी। यह आंकड़ा कंपनी के अब तक लगाए जा रहे अनुमान से तीन गुना ज्यादा है। कंपनी के वकीलों ने बताया कि इस समाचार के फैलने के साथ ही याहू शेयरहोल्डर्स और अकाउंट होल्डर्स का भी कंपनी पर दबाव बढ़ेगा।

याहू ने इसे इंटरनेट की सबसे बड़ी हैकिंग बताया है। इस वक्त याहू वैरिजोन कम्युनिकेश इंक का हिस्सा है। याहू ने यह साफ कर दिया है कि 2013 के डेटा ब्रीच में सभी अकाउंट प्रभावित हुए थे। कंपनी के मुताबिक नए इंटेलिजेंस से जानकारी मिली है कि साइबर अटैक में लगभग 3 अरब अकाउंट प्रभावित हुए थे। दिसंबर मे जब यह मामला समाने आया तब बताया गया कि 1 अरब अकाउंट इस सिक्योरिटी ब्रीच में प्रभावित हुए हैं।

याहू ने अपने बयान में यह भी कहा है कि जांच में पता चला है कि हैकर्स ने चार साल पहले याहू पर सबसे बड़ी सेंधमारी की थी। इस साइबर अटैक के दौरान अकाउंट, पासवर्ड, फोन नंबर और बर्थ डेट जैसी संवेदनशील जानकारियां चोरी कर ली गईं। हालांकि कंपनी के साइबर फॉरेंसिक इनवेस्टिगेटर्स ने बताया था कि यूजर्स के पासवर्ड, पेमेंट कार्ड डाटा और बैंक अकाउंट इंफॉर्मेशन पूरी तरह से सेफ रहीं।

याहू ने दिसंबर 2016 में कहा था कि 2013 में उसके 1 अरब से ज्यादा अकाउंट्स का डेटा चोरी हुआ था। इसकी वजह से वेरिजॉन को अपनी संपत्ति बेचते वक्त याहू को कीमतें भी कम करनी पड़ी थी।

गौरतलब है कि अमेरिका की फेडरल और स्टेट कोर्ट में याहू के खिलाफ पहले से ही 41 मामले चल रहे हैं।


कमेंट करें