नेशनल

जारी है यशवंत का हमला, अब बोले- कश्मीर को इमोशनली खो चुका है भारत

सतीश वर्मा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
115
| अक्टूबर 2 , 2017 , 08:30 IST | नई दिल्ली

इकोनॉमी में गिरावट के लिए अरुण जेटली को जिम्मेदार ठहराने के बाद यशवंत सिन्हा ने अब मोदी सरकार की कश्मीर नीति पर सवाल उठाए हैं। सिन्हा ने कहा, "सरकार ने कश्मीर मुद्दे को सिरदर्द बना दिया है। भारत कश्मीर को इमोशनली खो चुका है, वहां के लोगों का सरकार से भरोसा उठ गया है।

जम्मू-कश्मीर में ऐसा कुछ है जो मुझे परेशान करता है

देश के पूर्व वित्त मंत्री और सीनियर बीजेपी लीडर यशवंत सिन्हा ने कश्मीर नीत को लेकर ये आरोप एक इंटरव्यू में लगाए हैं। सिन्हा ने कहा, "जम्मू-कश्मीर में ऐसा कुछ है जो मुझे परेशान करता है, मैं जनता के अलगाव को देख रहा हूं, हमने लोगों को इमोशनली खो दिया है, आप घाटी का दौरा करें तो ये अहसास होगा कि लोगों का हम पर से भरोसा उठ गया है।"
सिन्हा का ये इंटरव्यू शुक्रवार को रिकॉर्ड किया गया। जर्नलिस्ट करन थापर के कुछ सवालों के जवाब में सिन्हा ने कश्मीर मसले पर ये बयान दिया। बता दें कि सिन्हा ने कुछ दिनों पहले एक अंग्रेजी अखबार में आर्टिकल लिखा था, जिसमें उन्होंने इकोनॉमी में गिरावट के लिए अरुण जेटली और मोदी सरकार पर निशाना साधा था।

Yashwant 1

घाटी जाने वाली सिविल सोसाइटी को सिन्हा ने किया था लीड

यशवंत सिन्हा सिविल सोसाइटी ऑर्गनाइजेशन 'कन्सर्ड सिटीजंस ग्रुप' (CCG) के मेंबर्स के साथ कई बार कश्मीर का दौरा कर चुके हैं। सिन्हा ने इस ग्रुप को लीड किया था। इस दौरान सिन्हा ने 70 साल पुरानी कश्मीर समस्या का परमानेंट हल खोजने के मकसद से कई पक्षों से बातचीत की थी। इस ग्रुप में कई मशहूर हस्तियां- जस्टिस (रिटायर्ड) एपी शाह, मुम्बई के पूर्व पुलिस कमिश्नर जेएफ रिबेरा, वजाहत हबीबुल्लाह, एएस दौलत, अरुणा रॉय और हिस्टोरियन रामचंद्र गुहा शामिल थे।

मोदी से 10 महीने पहले मांगा था मुलाकात का वक्त, पर नहीं मिला

इंटरव्यू में सिन्हा ने दावा किया कि उन्होंने इस मसले पर बातचीत के लिए नरेंद्र मोदी से 10 महीने पहले मुलाकात का वक्त मांगा था, पर नहीं मिला। उन्होंने कहा, "मैं आहत हूं, बिल्कुल, इससे मुझे चोट पहुंची है। जब से मैं पब्लिक लाइफ में गया हूं, कभी भी किसी पीएम से मुलाकात का वक्त नहीं मांगा, न ही किसी पीएम ने मुझसे कहा कि मेरे पास तुम्हारे लिए समय नहीं है। और अब मेरे पीएम ने ही मुझसे ऐसा व्यवहार किया। इसलिए अब अगर कोई मुझे फोन करेगा और कहेगा कि प्लीज आइए बात करते हैं तो माफ करें, समय बीत चुका है, मेरे साथ बुरा बर्ताव किया गया।"

 


कमेंट करें