लाइफस्टाइल

साइनस के दर्द से चाहते हैं आराम? आजमाएं ये 5 योग टिप्स

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
239
| अप्रैल 12 , 2017 , 15:30 IST | नयी दिल्ली

साइनस नाक का रोग है। सर्दी के मौसम में नाक बंद होना, सिर में दर्द होना, आधे सिर में बहुत तेज दर्द होना, नाक से पानी गिरना यह सारे लक्षण साइनस के होते हैं। इसमें रोगी को हल्का बुखार, आंखों में पलकों के ऊपर या दोनों किनारों पर दर्द रहता है। साइनस की वजह से लोग काफी परेशान रहते हैं। ऐसे में आवाज में बदलाव, सिर दर्द, बलगम आना जैसी स्थिति हो जाती है। यह एक ऐसी समस्या है जो दवाइयां लेने के बाद भी ठीक नहीं होती लेकिन योगासन की सहायता से आप इस बीमारी से राहत पा सकते हैं।

उत्तानासन

इसे करने के लिए सीधा खड़े हो जाएं और लंबी सांस लेते हुए दोनों हाथों को ऊपर की ओर उठाएं। अब आगे की ओर झुककर दोनों हाथों से जमीन छुएं। इस दौरान आपके घुटने सीधे होने चाहिए। कुछ देर इसी अवस्था में रहने के बाद फिर से हाथ ऊपर ले जाएं और सांस छोड़ते हुए सामान्य अवस्था में खड़े हो जाएं।

Uttanasana

अनुलोम-विलोम

इस आसन के करने के लिए पद्मासन या सुखासन की मुद्रा में बैठ जाएं। अब अपने दाएं हाथ के अंगूठे से नाक के दाएं छिद्र को बंद करें और बाएं से सांस लें। अब बाएं छिद्र को अंगूठे के पास वाली दो अंगुलियों से बंद करें और दाएं से अंगूठा हटाते हुए सांस छोड़ें। ऐसा ही बाएं छिद्र के साथ करें। करीब तीन से दस मिनट तक इस एक्सरसाइज को करने से आपको फायदा होगा।

Anulom-vilom-633x319

हलासन

सबसे पहले जमीन पर पीठ के बल लेट जाएं और दोनों हाथों को सीधा जमीन पर रखें। अब धीरे-धीरे सांस छोड़ें और दोनों पैरों को ऊपर उठाएं। पैरों को पीछे की ओर सीधे जमीन पर झुकाएं और पंजों को जमीन से सटाकर रखें। इस दौरान आपका सिर सीधा होना चाहिए। इस मुद्रा में दो से तीन मिनट रहें फिर सांस लेते हुए पैरों को सामान्य अवस्था में लाएं।

Halasana

पवनमुक्तासन

इसे करने के लिए पीठ के बल लेट जाएं और सांस लें। अब एक पैर के घुटने को मोड़ें और दोनों हाथों की अंगुलियों को एक-दूसरे में डालकर घुटने को पकड़कर पेट के ऊपर लगा दें। सांस बाहर निकालते हुए सिर को ऊपर उठाकर मोड़ें और घुटने को नाक पर लगाएं। करीब दस सेकेंड तक सांस रोकते हुए इस अवस्था में रहने के बाद पैरों को सीधा कर लें। ऐसा ही दूसरे पैर के साथ करें। दोनों पैरों के साथ आप ये दो से पांच बार कर सकते हैं।

Pawanmuktasana in hindi

पश्चिमोत्तानासन

इस आसन को करने के लिए सबसे पहले सीधा बैठें और दोनों पैरों को फैलाकर एक सीध में एक-दूसरे से सटाकर रखें। अब दोनों हाथों को ऊपर की ओर उठाएं लेकिन ध्यान रहे कि इस दौरान आपकी कमर बिलकुल सीधी रहनी चाहिए। अब झुककर दोनों हाथों से पैरों के दोनों अंगूठे पकड़ें। इस प्रतिक्रिया को करते समय आपके घुटने मुड़ने नहीं चाहिए और पैर भी जमीन से सटे हुए होने चाहिए। इस आसन को करने से साइनस से होने वाले सिर दर्द से आराम मिलेगा।

Paschimottanasana-benefits


कमेंट करें