नेशनल

दिल्ली के सात लाख कारोबारी आज हड़ताल पर, व्यापारियों को AAP का साथ

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
1483
| जनवरी 23 , 2018 , 10:29 IST

दिल्ली भर में व्यावसायिक प्रतिष्ठानों में लगातार हो रही सीलिंग की कार्रवाई के विरोध में व्यापारियों के संगठन कैट ने 23 जनवरी को दिल्ली व्यापार बंद करने की घोषणा की है। मंगलवार को दिल्ली के 2000 से अधिक व्यापारिक संगठनों के 7 लाख से ज्यादा व्यापारिक संस्‍थान अपना कारोबार बंद रखेंगे। थोक बाज़ार अथवा रिटेल बाज़ार दिल्ली में सभी पूरे तौर पर बंद रहेंगे और कोई भी कारोबारी गतिविधि नहीं होगी।

कैट के महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने बताया कि शहरी क्षेत्र में चांदनी बाकी पेज 8 पर चौक, खारी बावली, कश्मीरी गेट, सदर बाजार, चावड़ी बाजार, नई सड़क, नया बाजार, श्रद्धानंद बाजार, लाहौरी गेट, दरियागंज, मध्य दिल्ली में कनॉट प्लेस, करोलबाग, पहाड़गंज, खान मार्केट, उत्तरी दिल्ली में कमला नगर, अशोक विहार, मॉडल टाउन, शालीमार बाग, पीतमपुरा, पंजाबी बाग, पश्चिमी दिल्ली में राजौरी गार्डन, तिलक नगर, उत्तमनगर, जेल रोड, नारायणा, कीर्ति नगर, द्वारका, जनकपुरी, दक्षिणी दिल्ली में ग्रेटर कैलाश, साउथ एक्सटेंशन, डिफेंस कॉलोनी, हौज खास, ग्रीन पार्क, यूसुफ सराय, सरोजिनी नगर, तुगलकाबाद, कालकाजी और पूर्वी दिल्ली में लक्ष्मी नगर, प्रीत विहार, मयूर विहार, शाहदरा, कृष्णा नगर, गांधी नगर, दिलशाद गार्डन, लोनी रोड सहित सभी प्रमुख बाजार पूरी तरह बंद रहेंगे।

ये भी पढ़ें-चीन को पछाड़ेगी भारत की विकास दर, 2018 में सबसे तेजी से बढ़ेगी अर्थव्यवस्था : IMF

कॉन्फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने बंद की घोषणा करते हुए सोमवार को एक बयान में कहा कि "शीर्ष न्यायालय के आदेश की आड़" में "दिल्ली नगर निगम कानून 1957 के मूलभूत प्रावधानों को ताक" पर रख सीलिंग की कार्रवाई की जा रही है। व्यापारियों ने मांग की है इस बात की जांच की जाए कि "क्यों व्यापारियों को उनके अधिकार से वंचित रखते हुए सीलिंग की जा रही है।"

सभी बाजार रहेंगे बंद-

कैट ने कहा कि बंद का निर्णय शनिवार को आयोजित बैठक में लिया गया। इसमें 400 प्रमुख व्यापारिक संगठनों के व्यापारी नेता मौजूद रहे। बयान में कहा गया कि यह एक व्यापार बंद है और इसीलिए दिल्ली के सभी बाजारों में दुकानों के शटर बंद रहेंगे और कोई भी कारोबार नहीं होगा। कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि दिल्ली में सीलिंग की बदहाली ने व्यापारियों को भिखारी जैसा बना दिया है। कोई मंच नहीं है जहां पर व्यापारी अपनी जायज बात भी कह सकें। कोई सुनने वाला ही नहीं है।

आप का बंद को समर्थन-

आम आदमी पार्टी (आप) ने खुदरा बाजार में शतप्रतिशत प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की छूट देने और भाजपा शासित तीनों नगर निगमों के सीलिंग अभियान के खिलाफ मंगलवार को दिल्ली बंद का आह्वान किया है। पार्टी कार्यकर्ता दिल्ली के सभी 70 विधानसभा क्षेत्रों में विरोध प्रदर्शन करेंगे। आप की विज्ञप्ति के अनुसार विरोध प्रदर्शन के पहले चरण में 23 जनवरी को आप कार्यकर्ता दिल्ली के सभी बाजार बंद कर व्यापारियों के साथ सड़कों पर उतरेगे। बंद का नेतृत्व आप की दिल्ली इकाई के संयोजक गोपाल राय करेंगे।

29 जनवरी को 'आप' करेगी संसद मार्च-

वहीं, मीटिंग में ये भी तय हुआ है कि 23 जनवरी के बंद के समर्थन के बाद 29 जनवरी को व्यापारियों के साथ आम आदमी पार्टी विरोध स्वरूप संसद मार्च भी करेगी। दरअसल, इसी दिन से संसद का बजट सत्र शुरू हो रहा है। इस तरह से आम आदमी पार्टी सीलिंग के मुद्दे पर एमसीडी में काबिज बीजेपी को कड़ी टक्कर देने के मूड में हैं।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें