नेशनल

1984 सिख दंगे पर लंदन में बोले राहुल गांधी, कांग्रेस पार्टी का नहीं था कोई हाथ

जितेन्द्र कुमार, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1663
| अगस्त 25 , 2018 , 14:55 IST

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी विदेश में आयोजित कार्यक्रमों में अपने बयानों को लेकर लगातार सुर्खियों में हैं। शुक्रवार को ब्रिटेन की संसद में आयोजित एक कार्यक्रम में राहुल गांधी से सिख दंगों को लेकर सवाल किया गया था। उसके जवाब में राहुल गांधी ने कहा, ‘दंगों लेकर मेरे दिमाग में कोई उलझन नहीं है। वह एक त्रासदी थी, एक दर्दनाक अनुभव था। लेकिन अगर आप कहें कि उसमें कांग्रेस पार्टी शामिल थी तो मैं सहमत नहीं हूं।’

इसके बाद लंदन स्कूल ऑफ इकनॉमिक्स के कार्यक्रम में राहुल गांधी से फिर सिख दंगों के संबंध में सवाल किया गया. इस पर उन्होंने कहा, ‘(दंगों पर) मनमोहन सिंह ने हम सबकी तरफ से बयान दे दिया था. मैंने पहले ही कहा कि मैं भी हिंसा का पीड़ित हूं और जानता हूं कि ऐसा होना कैसा लगता है। इसलिए मैं इस दुनिया में किसी भी तरह की हिंसा के खिलाफ हूं। किसी को तकलीफ में देख कर मैं परेशान होता हूं।’

कांग्रेस अध्यक्ष ने आगे कहा कि जिन लोगों ने (दंगों की) हिंसा नहीं झेली है, उन्हें लगता है कि ऐसा तो फिल्मों में होता है. राहुल ने कहा, ‘मैंने अपने पिता के हत्यारे (प्रभाकरण) को मरते देखा है। जब मैंने प्रभाकरण को मरने की हालत में देखा तो मुझे उसके लिए बुरा लगा था। क्योंकि मैंने अपने पिता को भी मरते देखा था। जब आप हिंसा से प्रभावित होते हैं, जब आप इसे समझते हैं, तब इसका असर बिलकुल अलग होता है। ज्यादातर लोग असल में हिंसा को नहीं समझते, यह एक भयावह चीज है.’

बता दें कि शुक्रवार को राहुल गांधी ने आरएसएस की तुलना अरब देशों में सक्रिय कट्‌टरपंथी संगठन मुस्लिम ब्रदरहुड से की थी। जिसके बाद से ही उनका इस बयान पर सियासी घमासान जारी है।


कमेंट करें