राजनीति

यूपी: प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजबब्बर ने छोड़ा पद, ब्राह्मण चेहरे की हो सकती है ताजपोशी

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
722
| मार्च 21 , 2018 , 09:49 IST

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राज बब्बर ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। हालांकि अभी उनके इस्तीफे की आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन पार्टी सूत्रों ने कहा है कि उन्होंने इस्तीफा दे दिया है। राज बब्बर के इस्तीफे के साथ कई और प्रदेश कमेटियों के अध्यक्षों के इस्तीफे की भी खबरें हैं।

बता दें कि राज बब्बर को साल 2017 में यूपी विधानसभा चुनाव के दौरान उत्तर प्रदेश कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया था। कांग्रेस नेतृत्व की ओर से अभी राज बब्बर का इस्तीफा मंजूर नहीं किया गया है। जब तक उनका इस्तीफा मंजूर नहीं किया जाता, वे यूपी कांग्रेस के अध्यक्ष के तौर पर कामकाज जारी रखेंगे। राज बब्बर के बाद किसे यूपी कांग्रेस की कमान सौंपी जाएगी, इसे लेकर तमाम अटकलें लगाई जा रही हैं। सूत्रों के मुताबिक इस लिस्ट में जितिन प्रसाद, राजेश मिश्र और ललितेशपति त्रिपाठी का नाम आगे चल रहा है। यही नहीं, यह भी चर्चा है कि एक अध्यक्ष और चार उपाध्यक्षों की तैनाती एक साथ कांग्रेस करेगी। चारों उपाध्यक्षों को अलग-अलग क्षेत्रों का प्रभार दिया जाएगा।

एक अख़बार से बातचीत में राज बब्बर ने कहा कि मुझे एक विशेष काम देकर यहां भेजा गया था। मैं जितना काम कर सकता था, उतना काम किया। कुछ अच्छा हुआ होगा, कुछ ख़राब हुआ होगा। अब पार्टी लीडरशिप इसका आकंलन करेगी।

राज बब्बर बोले, 'कांग्रेस अधिवेशन के बाद अब मुझे लगता है कि 2019 को देखते हुए सभी की भूमिका बदलनी चाहिए। किसकी क्या भूमिका होगी यह लीडरशिप को तय करना है।

राज बब्बर ने अपने ऑफिशल ट्विटर अकाउंट पर सम्मानित कवि केदारनाथ सिंह के निधन के बाद उनकी पंक्तियां लिखते हुए संकेत भी देने की कोशिश की। उन्होंने लिखा कि अंत में मित्रों, इतना ही कहूंगा कि 'अंत' महज एक मुहावरा है जिसे शब्द हमेशा अपने विस्फोट से उड़ा देते हैं।

राहुल गांधी ने दिए थे बदलाव के संकेत-

बता दें कि नई दिल्ली में दो चले कांग्रेस महाअधिवेशन के समापन भाषण में राहुल गांधी ने संगठन में बदलाव के संकेत दिए थे। उन्होंने कहा था कि हमारे जमीनी कार्यकर्ता और नेताओं के बीच एक दीवार खड़ी है, जिसे अब गिराना होगा। उन्होंने साफ कहा कि आने वाले चुनावों में जमीनी कार्यकर्ता को टिकट दिया जाएगा, पैराशूट नेता को नहीं। उन्होंने कहा था कि संगठन में बड़े बदलाव किए जाएंगे।

2016 में बनाए गए थे प्रदेश अध्यक्ष-

जुलाई में राज बब्बर को प्रदेश कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष नियुक्त किया गया था। उनके साथ प्रदेश इकाई में चार वरिष्ठ उपाध्यक्ष भी बनाए जिनमें इमरान मसूद शामिल थे। तीन बार लोकसभा सदस्य रहे बब्बर उत्तराखंड से राज्यसभा सदस्य हैं। वह पहले भी राज्यसभा के सदस्य रह चुके हैं। यूपी चुनावों को देखते हुए राज बब्बर को उत्तर प्रदेश की जिम्मेदारी दी गई थी, लेकिन चुनावों में कांग्रेस का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा था।उन्होंने इस हार के लिए खुद को जिम्मेदार मानते हुए इस्तीफे की पेशकश की थी।


कमेंट करें